संवाद सहयोगी, मुकेरिया : जालंधर-पठानकोट राष्ट्रीय राज्य मार्ग पर राधा स्वामी सत्संग घर के नजदीक मुकेरियां में रेत बजरी से भरे ट्रक व टिप्पर आदि चेकिंग करने के लिए लगाई गई नाकाबंदी के खिलाफ किसान-मजदूर संघर्ष कमेटी के सदस्य एवं ट्रासपोर्टर व ड्राइवरों ने नेशनल हाईवे पर रात साढ़े आठ से नौ बजे तक आधा घटा जाम लगाया और शासन प्रशासन के खिलाफ नारेबाजी की।

इस मौके किसान मजदूर संघर्ष कमेटी के जोन प्रधान परमजीत सिंह भुला एवं विधानसभा मुकेरिया के प्रधान श्याम सिंह श्यामा व ट्रासपोर्टरों ने संयुक्त रूप से बताया कि उक्त स्थान पर ट्रासपोर्टरों और ड्राइवरों को नेशनल हाईवे पर लगाई चेकिंग पोस्ट के नाम पर जानबूझकर परेशान किया जाता है। हिमाचल में कुल खर्च बजरी 700 प्रति सैकड़ा है एवं रेत का रेट 1600 प्रति सैकड़ा पड़ता है। जो उन्हें सस्ते रेट में मिलता है एवं दूसरी और पंजाब में बजरी का रेट 1500 रुपया प्रति सैकड़ा एवं रेत का रेट 2500 प्रति सैकड़ा कुल खर्च पड़ता है। उन्होंने कहा कि अगर रेत बजरी आदि पंजाब से आए तो लीगल है। अगर हिमाचल से आए तो लीगल नहीं मानते। इस मौके तहसीलदार जगतार सिंह डीएसपी रविंदर सिंह एसएचओ बलविंदर सिंह मौके पर पहुंचे और आश्वासन दिया कि शनिवार सुबह एसडीएम कार्यालय मुकेरिया में माइनिंग विभाग के अधिकारी और किसानों से बातचीत कर इस समस्या का समाधान निकाला जाएगा। उसके बाद समूह संघर्ष कमेटी ने जाम खोला गया। इस मौके पर हरविंदर पाल सिंह,इक़बाल सिंह,गुरविंदर सिंह,शाम सिंह शामा, रवेल सिंह,विजय कुमार चानन सिंह,बूटा सिंह कुलविंदर सिंह,डिंपल मुल्तानी आदि मौजूद थे।

Edited By: Jagran