जागरण संवाददाता, होशियारपुर: अमृत स्कीम योजना में गड़बड़झाले पर राजनीति गरमा गई है। इस मामले में भाजपा घपले का आरोप लगाकर मामले की सीबीआइ जांच की मांग कर रही है। मामला उठने के बाद सीवरेज बोर्ड सकते में आ गया है। सीवरेज बोर्ड के एसडीओ अमनदीप सिंह ने नगर निगम को पत्र लिखकर निगम की हदबंदी स्पष्ट करने के लिए लिखा है। इसके साथ ही, सीवरेज डालने का काम मुगलपुरा चुंगी तक ही रोका गया है। अब, जब तक हद साफ नहीं होती तब तक काम को आगे बढ़ाया नहीं जाएगा। मामले को गंभीरता से लेते हुए अब सीवरेज बोर्ड ने गेंद नगर निगम के पाले में फेंक दी है।

फोटो: 47 में है

अमृत योजना के पैसे का दुरुपयोग करने वाले अफसरों पर दर्ज हो केस: भाजपा

मुद्दे पर भाजपा के जिला प्रधान विजय पठानिया ने कहा कि वार्ड स्तर पर छोटे-छोटे कांग्रेस नेता बेवजह दखलअंदाजी कर रहे हैं। इन कामों में दखलअंदाजी करके अमृत स्कीम का श्रेय कांग्रेस व स्थानीय मंत्री लेकर आगामी नगर निगम चुनाव में अपना आधार खड़ा करने की फिराक में हैं। शहर के बाहर कॉलोनियों में अमृत योजना के करोड़ों रुपये गैरकानूनी ढंग से खर्च करके सीवरेज की सुविधा देने के घपले को सरकार को गंभीरता से लेना चाहिए। सीवरेज बोर्ड के जिस अधिकारी ने नगर निगम की सीमा के बाहर खुदाई करके अमृत स्कीम का पैसा बर्बाद किया है तथा नगर निगम व पीडब्ल्यूडी के जिन अधिकारियों की सहमति से खुदाई की गई है, उन पर केस दर्ज किया जाना चाहिए। सीबीआइ से जांच कराई जाए। सड़कों पर उतरकर विरोध किया जाएगा। इस मौके पर मेयर शिव सूद, जिला अध्यक्ष विजय पठानिया, जिला महामंत्री निपुण शर्मा, पार्षद सुरेश भाटिया बिट्टू, रमेश ठाकुर, राकेश सूद, मीनू सेठी, नरिदर कौर, मलकीत सिंह, सुरेखा बरजता, गुरप्रीत कौर, सतीश बावा, अमरजीत सिंह लड़ी, डॉ. परवीन आदि भी उपस्थित थे।

--

फोटो: 62 में है।

घपलों का इतिहास लिखने वाले किस अधिकार से कर जांच की मांग: कांग्रेस

शहर के भीतर अमृत योजना के तहत पीने वाले पानी व सीवरेज की पाइपें बिछाने का काम तेजी से चल रहा है। इस कारण हर छोटा-बड़ा भाजपा नेता पंजाब सरकार के हर काम में नुक्स निकाल रहा है। सबसे हास्यास्पद बात यह है कि भाजपा के पूर्व मंत्री तीक्ष्ण सूद ने अमृत योजना के तहत सीवरेज व पानी लाइन बिछाने में घपले की आशंका जाहिर करते हुए सीबीआइ की मांग की है। कैबिनेट मंत्री सुंदर शाम अरोड़ा के ऑफिस का कामकाज देखने वाले कांग्रेस नेता राजिदर सिंह परमार ने कहा कि पंजाब अकाली-भाजपा सरकार के दौरान घपलों का इतिहास लिखने वाले किस अधिकार व आधार से सीबीआइ जांच की मांग कर रहे हैं। अमृत योजना नगर निगम की हद के भीतर नगर निगम के द्वारा बनाए नक्शे के आधार पर ही सीवरेज व पानी की पाइप बिछाई जा रही है। भाजपा चाहे तो सीबीआइ छोड़ किसी इंटरनेशनल एजेंसी से जांच करवा ले।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!