जागरण संवाददाता, होशियारपुर: नंगली जलालपुर व पुरिका में मंगलवार को कोरोना के चार पॉजिटिव केस आने के बाद सकते में आए स्वास्थ्य विभाग के लिए बुधवार को राहत की बात रही। इस दिन कोई भी पॉजिटिव केस पूरे जिले में नहीं आया है। इसके बावजूद टांडा के नंगली गांव से आए पॉजिटिव केसों के कारण स्वास्थ्य विभाग ने इलाके के लोगों की स्क्रीनिग शुरू कर दी है। पूरे इलाके को सील कर दिया गया है। स्वास्थ्य विभाग ने नंगली में 10 संदिग्ध लोगों के सैंपल लिए थे और उसी में से चार केस पाजिटिव आए थे। उधर अब तक लिए गए कुल 2097 सैंपलों में से 1822 सैंपल नेगेटिव पाए गए हैं, जबकि अब जिला में 111 केस पॉजिटिव हैं। 135 सैपलों की रिपोर्ट का इंतजार है। जिले में अब तक 89 मरीज ठीक हो चुके हैं और अब तक पांच लोगों की मौत कोरोना के कारण हो चुकी है। जिले में अब कोरोना के 17 केस एक्टिव हैं। इसके अलावा जो भी एनआरआई इन दिनों विदेश से लौट रहे हैं, उन्हें रयात बाहरा संस्थान में क्वारंटाइन किया गया है। वहां 34 एनआरआइ रुके हुए हैं, जिसमें से सात अमेरिका के रहने वाले हैं।

हॉट स्पाट बना जलालपुर गांव वहीं कोरोना के नए केस आने के बाद होशियारपुर का नंगली जलालपुर गांव हॉट स्पाट बन गया है। मोरांवाली के बाद नंगली जलालपुर ही एक ऐसा गांव हैं, जहां कोरोना के अब तक 13 पॉजिटिव केस सामने अब तक आ चुके हैं। साझी रसोई पहुंचा रही क्वारंटाइन लोगों को खाना कोविड 19 की जंग में जहां स्वास्थ्य विभाग पूरी तरह से अलर्ट पर है, वहीं इसके साथ-साथ इन दिनों रेडक्रॉस की साझी रसोई भी अपनी अहम भूमिका निभा रही है। रसोई से हर रोज क्वारंटाइन किए गए लोगों को भोजन मुहैया करवाया जा रहा है। रसोई के माध्यम से कोविड-19 के मद्देनजर कोविड राहत सेंटर रयात बाहरा संस्थान होशियारपुर में क्वारंटाइन किए व्यक्तियों को ब्रेक फास्ट, लंच, डिनर व फल मुहैया करवाए जा रहे हैं। वहीं बुधवार को डीसी अपनीत रियात ने भी रसोई का जायजा लिया।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!