जागरण टीम, होशियारपुर : उद्योग एवं वाणिज्य मंत्री सुंदर शाम अरोड़ा ने कहा कि तरनतारन जिले के गांव कैरो में स्थापित होने वाली श्री गुरु तेग बहादुर यूनिवर्सिटी आफ लॉ कानूनी शिक्षा के क्षेत्र में मील का पत्थर साबित होने के साथ सीमा क्षेत्र में विकास की नई इबारत लिखेगी। स्थानीय जिला प्रशासकीय कांप्लेक्स में वीडियो कांफ्रेंसिग के माध्यम से उन्होंने श्री गुरु तेग बहादुर यूनिवर्सिटी आफ लॉ के लिए मुख्यमंत्री का धन्यवाद किया। अरोड़ा ने कहा कि पट्टी क्षेत्र में पंजाब सरकार की पहली लॉ यूनिवर्सिटी स्थापित होने से सीमा क्षेत्र में विकास के नए दरवाजे खुलेंगे। उन्होंने कहा कि पंजाब सरकार की ओर से श्री गुरु तेग बहादुर के 400वें प्रकाश पर्व को समर्पित यह यूनिवर्सिटी विद्यार्थियों के लिए वरदान साबित होगी। राज्य सरकार की ओर से पिछले चार वर्ष के दौरान शिक्षा के क्षेत्र में बड़ी छलांग लगाई है, जिसके कारण स्कूल शिक्षा के क्षेत्र में पंजाब देश का अग्रणी राज्य बन गया है। सरकार की ओर से खेलों को और उत्साहित करने के उद्देश्य से पटियाला में स्पो‌र्ट्स यूनिवर्सिटी की स्थापना के अलावा जगत गुरु नानक देव पंजाब स्टेट ओपन यूनिवर्सिटी स्थापित की गई है व कालेजों व विश्वविद्यालयों में सहायक प्रोफेसरों के पदों को पूरा करने के लिए प्रक्रिया युद्ध स्तर पर जारी है। अरोड़ा ने कहा कि श्री गुरु नानक देव के 550वें प्रकाश पर्व व श्री गुरु तेग बहादुर के 400वें प्रकाश पर्व के मौके पर प्रदेश सरकार की ओर से यादगारी सिक्के लांच किए गए थे। इसी क्रम में श्री गुरु तेग बहादुर यूनिवर्सिटी आफ लॉ के नींव पत्थर पर विभाग की ओर से सोने के यादगारी सिक्के मुख्यमंत्री ने रिलीज करवाए हैं।

Edited By: Jagran