संवाद सहयोगी, माहिलपुर : माहिलपुर में ट्रैफिक जाम की समस्या इलाके की मुख्य समस्याओं में से एक बन चुकी है। होशियारपुर-चंडीगढ़ रोड पर पूरा दिन जाम की स्थिति बनी रहती है, लोग परेशान होते हैं और ट्रैफिक कर्मी मूकदर्शक बने रहते हैं। हालात यह हैं कि दो किलोमीटर में बसे माहिलपुर शहर को पार करने में आधा घंटा लग जाता है। परंतु आज तक इस समस्या के हल के लिए ट्रैफिक पुलिस ने न तो कोई पालिसी बनाई और न ही कोई ठोस कार्रवाई की। बता दें कि ट्रैफिक जाम की समस्या उस समय पैदा होती है जब लोग सड़क किनारे अवैध तौर पर वाहन पार्क करके निकल जाते हैं। बाकि कसर सड़क किनारे दुकानों के बाहर किया गया अतिक्रमण पूरी कर देता है। इसे हटाने के लिए नगर कौंसिल ने आज तक कोई ठोस कार्रवाई नहीं की। कार्रवाई के नाम पर नगर पंचायत कमेटी के अधिकारी व कर्मचारी अकसर दुकान संचालकों की तरफ से सड़क पर रखा समान उठाकर ले जाते हैं, लेकिन कुछ दिनों के बाद वही ढाक के तीन पात वाली स्थिति बन जाती है। दुकानों के सामने लगी रेहड़ियां ट्रैफिक में रुकावट पैदा कर रही हैं। इन रेहड़ी वालों को अपनी दुकान के सामने रेहड़ी लगाने के लिए दुकानदार महीने के पैसे लेते हैं। होशियारपुर-गढ़शंकर मुख्य सड़क के भी यही हालात हैं। दुकानदारों व बेतरतीब वाहनों के कारण यहां से पैदल चलना भी खतरे से खाली नहीं है। सबसे ज्यादा परेशानी बुजुर्ग लोगों को होती जो पैदल चलकर बाजार से खरीदारी करने आते हैं। बेशक पुलिस कर्मी व अधिकारी मुख्य चौक पर खड़े रहते हैं, लेकिन जब जाम लगता है वो भी अपनी जगह से गायब हो जाते हैं और जाम में फंसे वाहन चालक एक दूसरे से झगड़ा करते नजर आते हैं। चौक पर लगी ट्रैफिक लाइट गायब

शहर के लोगों का कहना है कि मुख्य चौक पर ट्रैफिक को कंट्रोल करने के बहुत समय पहले यहां ट्रैफिक लाइट लगाई गईं थी जो शायद ही कभी चली होगी, यह लाइट कहां गायब हो गई कोई नहीं जानता।

----------------------

-पंचायत कर्मचारी समय स,मय पर दुकानदारों का सड़क पर रखा सामान जब्त करते हैं। कुछ दिन तो सही चलता है उसके बाद फिर दुकानदार अतिक्रमण कर लेते हैं। इस संबंध में पुलिस का भी सहयोग लिया जाता है।

-राम प्रकाश, ईओ, नगर पंचायत कमेटी --------------

जल्द ही इस समस्या का हल करवा देंगे और लोगों की किसी भी तरह की परेशानी नहीं आने दी जाएगी।

-बलविंदर पाल, एसएचओ माहिलपुर।

Edited By: Jagran