जागरण टीम, तलवाड़ा, होशियारपुर : होशियारपुर में तलवाड़ा-मुकेरियां रोड पर स्थित अड्डा बैरियर के पास शुक्रवार सुबह 10:30 बजे हुए भीषण सड़क हादसे में चार लोगों की मौत हो गई। हादसा बस व कार की टक्कर के कारण हुआ। टक्कर इतनी जबरदस्त थी कि कार के परखचे उड़ गए और कार में सवार चारों लोगों व चालक के पालतू बंदर की मौके पर ही हो गई। वहीं बस का अगला हिस्सा भी बुरी तरह से क्षतिग्रस्त हो गया। मृतकों की पहचान सुशील कुमार व सर्वजीत सिंह वासी रौली, कुलदीप सिंह पुत्र रणबीर सिंह वासी परशुराम नगर, गली तीन, थाना डिवीजन आठ (जालंधर) व सुशील के साढे़ तीन साल के भांजे आर्यन के रूप में हुई है। आर्यन अपनी मां के साथ कुछ दिन पहले ननियाल में आया था। दरअसल, सर्वजीत सिंह गांव से तलवाड़ा में एटीएम बूथ से पैसे निकलवाने के लिए दोस्तों के साथ कार में आया था। तलवाड़ा बैरियर के पास पहुंचते ही आगे चल रहे वाहन को जैसे ही 110 के आसपास की स्पीड में ओवरटेक करने लगा तो सामने से एक बस आ गई और स्पीड अधिक होने के कारण सर्वजीत का कार से कंट्रोल खो गया। इसके कारण कार सामने से आ रही बस में सीधी टकरा गई। दर्दनाक हादसे में कार सवार चारों की मौके पर ही मौत हो गई। जोरदार धमाके की आवाज सुनने के बाद आसपास के लोग मौके पर पहुंचे। बड़ी मशक्कत से कार में फंसे चारों लोगों को बाहर निकालने का प्रयास किया, लेकिन कार बुरी तरह से क्षतिग्रस्त होने की वजह से बचाव कार्य में दिक्कत आई। काफी जद्दोजहद के बाद जब उन्हें बाहर निकाला गया तब तक उनकी मौत हो चुकी थी। सरवजीत और कुलदीप सिंह उत्तर प्रदेश में क्रेन आपरेटर का काम करते थे। दोनों इन दिनों छुट्टी पर घर में आए थे। कुलदीप सिंह जालंधर का रहने वाला था। वह सर्वजीत सिंह को मिलने के लिए उसके घर रौली में आया हुआ था। दुर्घटना का पता चलते ही पुलिस पहुंच गई। शवों को पोस्टमार्टम के लिए अस्पताल भेज दिया गया।

आर्यन को खींच लाई मौत

सुशील कुमार के भांजे आर्यन को उसकी मौत खींच लाई। बताया जा रहा है कि सुशील कुमार जब कार में बैठने लगा तो आर्यन भी साथ जाने के लिए जिद करने लगा। इस पर सुशील ने भांजे को भी साथ बैठा लिया था, पर उसे क्या मालूम था कि रास्ते में मौत सभी का इंतजार कर रही है। जिला गुरदासपुर के गांव बागड़ियां का आर्यन अपनी मां के साथ कुछ दिन पहले ही मामा के घर आया था। इस दर्दनाक हादसे के कारण परिवार स्तब्ध है। घर में संवेदना जताने के लिए लोग पहुंच रहे हैं।

Edited By: Jagran