संवाद सहयोगी, होशियारपुर : शिक्षा विभाग ने शिक्षा के क्षेत्र में देश में अव्वल राज्य के खिताब को कायम रखने के लिए नवंबर में होने वाले नेशनल अचीवमेंट सर्वे (नेस) के लिए तैयारियां शुरू कर दी हैं। इसके अंतर्गत जिला शिक्षा अफसर (सेकेंडरी) डा. गुरशरण सिंह की देखरेख में सीनियर सेकेंडरी स्कूलों के अध्यापकों को चरणबद्ध प्रशिक्षण दिया जा रहा है। जिले के 21 शिक्षा ब्लाकों के बीपीईओ, मास्टर ट्रेनर, ब्लाक मेंटर, सब्जेक्ट रिसोर्सपर्सन की अगुआई में ब्लाक रिसोर्ससेंटरों में स्कूल अध्यापकों को विस्तार के साथ जानकारी दी रही है। इसी क्रम में मंगलवार को डीईओ गुरशरण सिंह ने सरकारी सीनियर सेकेंडरी स्कूल ढोलबाहा में अध्यापकों को संबोधित करते हुए बताया कि नवंबर में होने वाले नेस की तैयारी के लिए स्कूल शिक्षा विभाग की तरफ से अगस्त, सितंबर और अक्टूबर के पहले हफ्ते के दौरान ट्रेनिंग दी जाएगी। नेस की तर्ज पर राज्य के सभी सरकारी स्कूलों में तीन पड़ावों में अभ्यास किया जाएगा। इसके बाद जब भी नेस अनाउंस होता, तो उसी दिन ही राज्य भर के हर स्कूल और विद्यार्थियों पर आधारित पंजाब अचीवमेंट सर्वे (पेस) भी करवाया जाएगा। नेस के अंतर्गत राज्य के चुनिंदा स्कूलों में सर्वेक्षण होगा, जबकि पेस के अंतर्गत हर स्कूल और विद्यार्थी को कवर किया जाता है।

इसी दौरान उप जिला शिक्षा अफसर (सेकेंडरी) राकेश कुमार ने भी कुछ केंद्रों का दौरा किया और स्कूल अध्यापकों को नेस संबंधी जानकारी दी। सरकारी सीनियर सेकेंडरी स्कूल पथियाल में उन्होंने कहा कि स्कूलों की शैक्षिक गुणवत्ता, शैक्षिक गतिविधियों के साथ संबंधित सामग्री और सुविधाओं, स्कूल प्रबंधन व स्कूलों के समाज में प्रभाव के बारे में सर्वेक्षण होगा। विभाग की तरफ से तैयार किए गए नमूनों की प्रश्नावली जिले के हर स्कूल तक पहुंचाई जा चुकी है। इसके तहत ही नेस की योजनाबद्ध तरीके से तैयारी की जाएगी।

Edited By: Jagran