संवाद सहयोगी, माहिलपुर : गांव ऐमा जट्टां में बिस्त दोआबा नहर के किनारे वीरवार सुबह करीब सात बजे युवक का शव मिला। पहले तो पहचान नहीं हुई परंतु बाद में जब पुलिस ने आसपास के इलाके में सूचना दी और छानबीन शुरू की तो पता चला कि मृतक मजारा डिगरियां का जसपाल सिंह है। शव पर चोट के निशान थे। जसपाल के परिवार का आरोप है कि बेटे की हत्या गांव के एक परिवार ने की है क्योंकि उनकी बेटी के जसपाल के साथ प्रेम संबंध थे। पुलिस ने लड़की के पिता को काबू कर जांच शुरू कर दी है। दूसरी ओर, आरोपित ने गुनाह कबूल कर लिया है।

मृतक के भाई राकेश कुमार पुत्र बूटा सिंह वासी मजारा ने बताया कि जसपाल सिंह का गांव की लड़की के साथ प्रेम संबंध था। इसकी जानकारी लड़की के परिजनों को भी थी। बातचीत के दौरान उसने लड़की की तरफ से मृतक को लिखे प्रेम पत्र भी दिखाए। राकेश ने बताया कि जसपाल सिंह को सुबह घर में न पाकर वह ढूंढता हुआ छत पर गया, तो वह लड़की भी छत पर थी और उसने इशारे से बताया कि जसपाल सिंह मर गया है। इसी दौरान पता चला कि नहर के पास से शव मिला है। जब वह मौके पर गए तो शव जसपाल का था। उसने पुलिस से गुहार लगाते हुए कहा कि कातिलों को जल्द गिरफ्तार किया जाए। उनका कहना है कि जसपाल सिंह का कत्ल एक से अधिक लोगों ने किया है। एसएचओ सतविदर सिंह ने बताया कि आरोपित लड़की के पिता सतनाम सिंह ने गुनाह कबूल कर लिया है और मृतक के भाई राकेश कुमार के बयान पर मामला दर्ज किया जा रहा है। जसपाल से तंग आकर बेटी ने की थी शिकायत: सतनाम सिंह

सतनाम सिंह ने बताया कि जसपाल सिंह उसकी नाबालिग लड़की को परेशान करता था और इस बारे में बेटी ने बताया था। बुधवार रात को वह हवेली में काम कर रहा था और उसे इत्र की खुशबु आई, तभी देखने गया कि कौन सेंट लगाकर घूम रहा है तो उसे घर में जसपाल सिंह छिपकर जाते हुए दिखाई दिया। वह बेटी को जबरदस्ती मोबाइल फोन देने आया था इसलिए उन्होंने उसे पीटा था। मारपीट के दौरान जसपाल फरार होकर कोटफतूही की तरफ भागा लेकिन नहर के पास गिर गया और वह वापस आ गए थे।

Edited By: Jagran