जेएनएन, होशियारपुर : श्रीमती सरस्वती देवी मेमोरियल एजुकेशनल एंड वेलफेयर सोसायटी की तरफ से पुरहिरा होशियारपुर में चलाए जा रहे मुफ्त सिलाई सेंटर व ब्यूटीपार्लर सिखलाई सेंटर में सोमवार को श्री गुरु नानक देव जी का 550वां जन्म दिवस समारोह मनाया गया। सोसायटी के अध्यक्ष निपुण शर्मा ने बताया कि सिख धर्म के पहले गुरु नानक जी के जन्म दिवस के दिन गुरु पर्व या प्रकाश पर्व मनाया जाता है। गुरु नानक देव जी ने सिख समुदाय की नींव रखी थी। गुरु नानक देव जी को बाबा नानक और नानकशाह के नाम से पुकारा जाता था। गुरु नानक जी निहित नैतिकता, कड़ी मेहनत और सच्चाई का संदेश देते हैं। सिख धर्म की प्रार्थना जपुजि साहिब गुरु नानक देव जी द्वारा लिखी गई थी। जिसका लोग सिमरन करते हैं और गुरु नानक देव जी से घर में सुख-शांति की कामना करते हैं। सोसायटी कि चीफ आर्गेनाइजर पूजा शर्मा ने बताया कि गुरु नानक जी ने लोगों को सदा ही नेक राह पर चलने की प्रेरणा दी। वे कहते थे कि साधु-संगत और गुरबाणी का आसरा लेना ही जिदगी का ठीक रास्ता है। उनका कहना था कि ईश्वर मनुष्य के हृदय में बसता है, अगर हृदय में निर्दयता, नफरत, निदा, क्रोध आदि विकार हैं तो ऐसे मैले हृदय में परमात्मा बैठने के लिए तैयार नहीं हो सकता है। अत: इन सबसे दूर रहकर परमात्मा का नाम ही हृदय में बसाया जाना चाहिए। यहां रजिदर कौर, छबील अख्तर, गुरप्रीत कौर पूनम, राजविदर कौर, हरप्रीत कौर, मनीषा, बेबी चौहान आदि उपस्थित थे।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!