संवाद सहयोगी, होशियारपुर: मंगलवार रात करीब 2 बजे जम्मू से दिल्ली जा रही एक ट्रैवल प्वाइंट कंपनी की बस होशियारपुर के नंगल शहीदां टोल प्लाजा के पास खराब हो गई। बस में करीब 55-60 सवारियां सफर कर रही थीं। रात करीब दो बजे बस खराब होने के कारण पहले तो कुछ देर यात्री यही सोचकर बस में बैठे रहे कि शायद मामूली गड़बड़ी है जल्दी बस ठीक हो जाएगी लेकिन धीरे धीरे लोगों की उत्सुकता बढ़ने लगी और उन्होंने बस के ड्राईवर व कंडक्टर से पूछताछ शुरु कर दी। बस के ड्राईवर व कंडक्टर ने अपने स्तर पर बस को ठीक करने के लिए जोड़ तोड़ तो काफी लगाए पर बस स्टार्ट नहीं हुई। बस को काफी देर सड़क में खड़ी देख हाईवे पेट्रोलिग पुलिस पार्टी मौके पर पहुंच गई पर कोई हल किए बिना आगे निकल गई। बस चालक से यात्री जब भी पूछते तो बस चालक ही कहकर सारी रात उन्हें टालता रहा कि जल्दी ही बस ठीक हो जाएगी। टाल मटोल करते हुए सुबह के पांच बजा दिए लेकिन बस ठीक नहीं हुई और सारा रात यात्री ठंड में ठिठुरते रहे। तंग आकर सुबह करीब पांच बजे लोगों ने जाम लगा दिया, कुछ लोगों ने जब यात्रियों से पूछा तो उन्होंने बताया कि बस जम्मू से दिल्ली के लिए रात को रवाना हुई थी, रास्ते में ही एक दो बार बस में गड़बड़ी लगी थी उन्होंने कंडक्टर से पूछा भी था परंतु उन्होंने यह कहकर टाल दिया था कि हमारा रोज का काम है चिता मत करें, सब ठीक है। मगर जब यहां पहुंची तो पूरी तरह से बंद हो गई।

बस चालक बस के अंदर ही बैठा रहा। यात्रियों ने बताया कि ज्यादातर यात्री दिल्ली जा रहे हैं और कुछ तो विदेश जाने वाले हैं और उनकी फ्लाईट का समय सुबह है। मगर बस का चालक कोई बात करने और सुनने को तैयार नहीं हो रहा था। रास्ता रोक रहे यात्रियों को एक आर्मी के अधिकारी ने समझाते हुए कहा कि रास्ता रोकने का कोई लाभ नहीं है, वह बस कंपनी के दिल्ली कार्यालय से संपर्क करें ताकि उन्हें लोगों को हो रही परेशानी के बारे में पता चल सके। सारी रात बस का इंतजार करने के बाद लोग सुबह अपना अपना इंतजाम कर अपने गणतव्य की तरफ चले गए। किराया देने से बस चालक व कंडक्टर करता रहा टाल मटोल

जब कोई हल नहीं हुआ तो लोगों ने बस कंडक्टर से किराया वापिस मांगा ताकि वह अपने स्तर पर इंतजाम करके आगे निकल सके। परंतु कंडक्टर ने किराया देने से मना कर दिया। बस में ज्यादातर यात्री पूंछ, राजौरी, बारामुला, श्रीनगर, रामवन व अनंतनाग के थे जो खासे परेशान हुए। यात्री बोले बस वाले के पास परमिट भी नहीं

जब बस चालक ने किराया वापिस करने से मना कर दिया, तो उन्होंने बस चालक को बस का परमिट दिखाने के लिए कहा बस चालक ने बस का परमिट नहीं दिखाया, जिस पर लोगों ने आरोप लगाया कि बस चालक के पास बस का परमिट तक नहीं है। बस में सफर कर रहे अब्बदुल शेख ने बताया कि उन्होंने बस चालक से बार बार परमिट मांगा लेकिन उसने परमिट नहीं दिखाया। लोगों की जांच की मांग

बस यात्री गफ्फार खां जोकि बारामुला से थे ने कहा कि सरकार को ऐसी बस कंपनियों पर सख्त कार्रवाई करनी चाहिए। इनकी लापरवाही के कारण वह सारी रात परेशान होते रहे। उन्होंने मांग की कि बसों की बकायदा जांच करनी चाहिए कि इनके पास परमिट भी है कि नहीं।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!