जेएनएन, होशियारपुर : आम आदमी पार्टी का सांसद सोम प्रकाश के खिलाफ राजनीति से प्रेरित तुच्छ प्रस्ताव बिल्कुल गलत तथा निदनीय है। क‌र्फ्यू के कारण सरकार ने सभी तरह के राजनीतिक, धार्मिक व सामाजिक आयोजनों पर प्रतिबंध लगाया है। मगर आम आदमी पार्टी के कार्यकर्ताओं को प्रदर्शन करने की छूट है, तो भाजपा भी बहुत से मुद्दों पर सरकार की नाकामियों पर प्रदर्शन करने के लिए निकल सकती है। उन्होंने आम आदमी पार्टी की ओर से वीरवार को सांसद के खिलाफ किए प्रदर्शन की निंदा की। यह बात भारतीय जनता पार्टी के वरिष्ठ नेताओं ने बैठक में कही।

भाजपा नेताओं ने कहा कि क‌र्फ्यू की शर्तों का सोम प्रकाश तथा सभी नेताओं ने ही सख्ती से पालन के लिए बार-बार लोगों से अपील की है। ऐसे संकटकाल में सभी कार्य सोशल व इलेक्ट्रॉनिक मीडिया के माध्यम से करवाए जा सकते हैं, न की गलियों बाजारों में दुकानों में घूमकर।

पूर्व कैबिनेट मंत्री तीक्ष्ण सूद, पूर्व मेयर शिव सूद, जिला अध्यक्ष विजय पठानिया, महामंत्री विनोद परमार, निपुण शर्मा, रमेश ठाकुर, अशोक कुमार, अमरजीत लाडी, अश्वनी गैंद, सुरेश भाटिया, दर्पण गुप्ता उपस्थित थे। नेताओं ने कहा कि कोरोना जैसी गंभीर बीमारी के संकट के चलते केंद्रीय राज्य उद्योग मंत्री सोम प्रकाश का देश तथा होशियारपुर लोकसभा क्षेत्र के लोगों के लिए किए गए कार्य अति सराहनीय है। कोरोना संकट के चलते सोम प्रकाश ने खुद अपने पूरे संसदीय क्षेत्र में घूमकर जरूरतमंदों को राशन तथा अन्य राहत सामग्री बड़ी मात्रा में पहुंचाई। उन्होंने समय-समय पर स्थानीय प्रशासनिक अधिकारियों से संपर्क करके होशियारपुर में चल रही स्वास्थ्य सेवा व राशन वितरण के बारे में जानकारी भी ली। उन्होंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के निर्देश अनुसार पूरे भारत में उद्योग जगत को राहत प्रदान करने के लिए योजनाएं तैयार करवाई। जिसके अंतर्गत केंद्र सरकार के 20 लाख करोड़ के आर्थिक पैकेज में से उद्योग तथा उद्योगपतियों को भारी राहत मिल सकें। भाजपा नेताओं ने कहा कि सोम प्रकाश ने अपने संसदीय फंड से भी एक करोड़ रुपये होशियारपुर में कोरोना संकट से निपटने के लिए स्वास्थ्य सेवाओं के लिए तथा 2.50 करोड़ रुपये अन्य विकास कार्य के लिए दिए हैं तथा अपने वार्षिक वेतन से 30 प्रतिशत हिस्सा प्रधानमंत्री के पीएम केयर फंड में डाला है।

भाजपा नेताओं ने 'आप' कार्यकर्ताओं द्वारा कानून की उल्लंघना करके राजनीतिक प्रदर्शन करके बेवजह झूठे तथ्यों के आधार भाजपा को बदनाम करने की कोशिश की है। राशन बांटने के काम को कानूनी तौर पर सार्वजनिक न करना चाहिए और न ही करने की अनुमति है। इसलिए बिना सोचे समझे सोम प्रकाश के खिलाफ बयानबाजी से आप नेताओं को बाज आना चाहिए।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!