संवाद सहयोगी, मुकेरिया : पंजाब में होने जा रहे विधानसभा चुनावों को लेकर काग्रेस पार्टी ने अपने उम्मीदवारों की लिस्ट जारी कर दी है। जिसमें मुकेरिया हलके से विधायिका इंदूबाला के नाम पर मोहर लगाई गई। यह खबर क्षेत्र में फैलते ही टकसाली काग्रेसियों ने अपनी ही पार्टी के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है। इस अवसर पर संबोधित करते हुए तरसेम मन्हास जिला उपाध्यक्ष, कुलभूषण सोहल ब्लाक प्रधान हाजीपुर, जसवंत सिंह रंधावा जिला परिषद सदस्य, पार्षद रणजोध सिंह कुक्कू, सुमित डडवाल जिला परिषद सदस्य एवं पंजाब प्रदेश काग्रेस कमेटी के सदस्य ने संबोधित करते हुए कहा कि मुकेरिया में काग्रेस पार्टी ने टकसाली काग्रेसी नेताओं को नजरअंदाज करके पूर्व विधायिका को टिकट दी। पार्टी हाईकमान एवं पार्टी के पंजाब प्रधान नवजोत सिंह सिद्धू ने कहा था कि वह मेहनती, ईमानदार वर्करों को टिकट देंगे और नई काग्रेस बनाएंगे।

पार्टी ने फिर निवर्तमान विधायिका को टिकट दी जिससे पार्टी के कार्यकर्ता व लोगों में बहुत रोष है, क्योंकि मुकेरिया के सरकारी कार्यालयों में भ्रष्टाचार चरम सीमा पर है। बिना पैसे लिए लोगों के काम नहीं होते। इसके अतिरिक्त क्षेत्र में लगातार दिन-रात अवैध माइनिंग हो रही है। उन्होंने पार्टी हाईकमान से निवर्तमान विधायिका की टिकट काटकर किसी टकसाली काग्रेसी को टिकट देने की अपील की है। उन्होंने कहा कि अगर पार्टी ने ऐसा नहीं किया तो वह काग्रेस पार्टी से इस्तीफा दे देंगे। वक्ताओं ने कहा कि अगर वह 2012 में विधानसभा के चुनावों में आजाद उम्मीदवार को भारी मतों से जीत दिलवा सकते हैं तो फिर अपने टकसाली काग्रेसी को आजाद उम्मीदवार के रूप में खड़ा कर उसे विजय बना सकते हैं। इस मौके पर मलकीत सिंह पोता उपाध्यक्ष ब्लाक हाजीपुर, संदीप कुमार टिम्मा महासचिव जिला काग्रेस कमेटी, अमरजीत सिंह टुडे कट बाल रणजोध सिंह, बलविंदर सिंह बिंदा, प्रिंसिपल श्लोक सिंह, जसवंत सिंह, मनजीत सिंह, कश्मीर सिंह, इंद्रजीत सिंह, खालसा सरपंच दरबार सिंह आदि मौजूद रहे।

काग्रेस के वरिष्ठ नेता पठानिया भाजपा में शामिल हुए

संवाद सहयोगी, गढ़शकर: गढ़शकर से काग्रेस के वरिष्ठ नेता कैप्टन आरएस पठानिया काग्रेस छोड़कर भाजपा में शामिल हो गए। उन्होंने भाजपा में शामिल होने संबंधी अपनी फोटो सोशल मीडिया पर साझा की। उल्लेखनीय है कि अन्य काग्रेस नेताओं से मिलकर काग्रेस हाईकमान से अपील कर चुके थे कि गढ़शकर से उम्मीदवार किसी स्थानीय व्यक्ति को घोषित करें। लेकिन हाईकमान ने अमरप्रीत लाली को यहां से उम्मीदवार घोषित कर दिया। पठानिया पहले भी काग्रेस छोड़कर अकाली दल में शामिल हो गए थे और फिर अकाली दल को छोड़कर वापिस काग्रेस में लौट आए थे। अब दोबारा काग्रेस को छोड़कर भाजपा में शामिल हो गए हैं।

Edited By: Jagran