जेएनएन, होशियारपुर

डीसी ईशा कालिया के निर्देश पर डायरिया प्रभावित इलाकों के लिए स्वास्थ्य विभाग व नगर निगम की ओर से 19 टीमों का गठन किया गया है। उक्त टीमों ने मंगलवार को घर-घर जाकर प्रभावित लोगों को 1300 पैकेट ओआरएस व 22 हजार क्लोरीन की गोलियां बांटीं। इसके अलावा टीमों की ओर से ओआरएस बनाने का तरीका व साफ-सफाई के बारे में भी जागरूक किया गया। नगर निगम की ओर से प्रभावित इलाकों में ट्रीट किया पानी वाटर टैंकरों के माध्यम से मुहैया करवाया जा रहा है।

इस बारे में डीसी ने बताया कि जिला प्रशासन की ओर से मरीजों के इलाज में कोई कमी नहीं छोड़ी जाएगी। स्वास्थ्य विभाग की ओर से मंगलवार को 48 मरीज डिस्चार्ज किए जा चुके हैं। गर्मियों व बरसात के मौसम में होने वाली बीमारियों से बचने के लिए सावधानियां बरतना बहुत जरूरी है। उन्होंने कहा कि पानी उबाल कर व ठंडा करके ही पीया जाए, जबकि पीने का पानी साफ बर्तन में ढंक कर रखें और पानी के बर्तन में हाथ न धोएं। परिवार के सभी सदस्य केवल शौचालय का भी प्रयोग करें व खुले में शौच जाने से परहेज करें। इसके अलावा प्रतिदिन खाना खाने से पहले व शौच जाने के बाद हाथ अच्छी तरह धोने चाहिए। गले सड़े, ज्यादा पके हुए व कटे हुए फल न खाए जाएं। इसके अलावा कीटनाशकों के ड्रमों व डब्बों को नहरों या तालाबों में न धोएं, क्योंकि ऐसा करने से कीटनाशकों के जहरीले तत्व पानी में मिल कर पानी को मनुष्य के लिए नुकसानदेह बना देते हैं। उन्होंने कहा कि सब्जियों को भी तालाबों, छप्पड़ों व नालों में नहीं धोना चाहिए। यदि आपके परिवार, पड़ोस या इलाके के किसी व्यक्ति को उल्टी-दस्त या पेचिश की शिकायत हो, तो तुंरत नजदीकी स्वास्थ्य केंद्र से संपर्क किया जा सकता है। उन्होंने बताया कि पानी को पीने योग्य बनाने के लिए नजदीकी स्वास्थ्य संस्था या नगर परिषद, निगम के कार्यालय से क्लोरीन की नि:शुल्क गोलियां प्राप्त की जा सकती हैं।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!