संवाद सहयोगी, काहनूवान : गांव भंिट्टयां के सीनियर सेकेंडरी स्कूल के बाहर सुबह 9:30 बजे गुंडागर्दी का नंगा नाच दिखा। यहां पर कुछ युवकों ने स्कूल वैन में सवार होकर आने वाली लड़कियों को पहले अश्लील इशारे किए, जब ड्राइवर ने इसका विरोध किया तो आरोपितों ने स्कूल के बाहर पहुंचकर ड्राइवर की गाड़ी तोड़ने के बाद उसकी बाजू भी तोड़ डाली। शरारती तत्वों ने स्कूल के बाहर आधे घंटे तक जमकर उत्पाद मचाया जिससे इलाके में सहम का माहौल बना हुआ। दूसरी ओर घटना की जानकारी मिलने के करीब एक घंटे के बाद थाना तुगलवाल और काहनूवान की पुलिस पहुंची। इससे पहले ही लड़कियों के अभिभावक मौके पर पहुंच चुके थे। उन्होंने पुलिस प्रशासन और गुंडातत्वों के खिलाफ जोरदार प्रदर्शन भी किया। लोगों के विरोध को देखते हुए पुलिस ने आनन-फानन में चार युवकों को हिरासत में लेकर पूछताछ शुरू की, फिलहाल किसी भी आरोपित के खिलाफ मामला दर्ज नहीं किया गया। उधर, घायल ड्राइवर को पास के स्वास्थ्य केंद्र में भर्ती करवाया गया।

पता चलते दौड़ाई वैन, स्कूल के बाहर घेरा

ड्राइवर गुरप्रीत सिंह वासी गाव कोर्ट टोडरमल ने बताया कि बाइक सवार कुछ युवक उनकी गाड़ी में बैठने वाली छात्राओं के साथ अश्लील हरकतें और इशारे कर रहे थे, जब उन्हें इस बात का पता चला तो उन्होंने गाड़ी तेज रफ्तार से चलाकर सीनियर हाई स्कूल गांव भट्टियां के बाहर पहुंच गए, लेकिन युवकों ने उनका पीछा करना शुरू कर दिया और गुंडागर्दी दिखाते हुए स्कूल के बाहर गाड़ी पर तेजधार हथियारों से हमला कर दिया। जिससे उनकी गाड़ी के शीशे टूट गए। इतना ही नहीं, ड्राइवर को भी बाहर निकालकर उस पर भी हमला कर दिया। जिससे उसकी बाजू टूट गई।

तब तक चालक को पीटा जब तक छुड़ाने नहीं आया कोई

जैसे ही ड्राइवर गाड़ी लेकर स्कूल के बाहर पहुंचा तो आरोपितों ने एकदम से हमला कर दिया। इस दौरान लड़कियों ने चीख-पुकार शुरू कर दी। आनन-फानन में लड़कियों की आवाज सुनकर स्कूल के अध्यापक बाहर आ गए, लेकिन आरोपित ड्राइवर के साथ तब तक मारपीट करते रहे जब तक उन्हें छुड़ाने के लिए कोई नहीं आया और आखिरकार गांव के लोगों के हस्तक्षेप के दौरान आरोपितों ने ड्राइवर को छोड़ दिया और भाग निकले।

ड्राइंग और कटिग टेलरिग का था पेपर

जब इस मामले में सीनियर सेकेंडरी स्कूल गांव भाटिया के अध्यापक चरणजीत सिंह सैनी से बातचीत की गई तो उन्होंने कहा के दसवीं कक्षा की ड्राइंग और कटिग टेलरिग की परीक्षा थी। 9:30 बजे जब स्कूल के गेट के बाहर लड़कियों का शोर सुनाई दिया तो तुरंत गेट के बाहर पहुंचे। इस दौरान गाड़ी का चालक गंभीर रूप से घायल था, जबकि हमलावर उसपर लगातार हमला कर रहे थे जिसके बाद उन्होंने थाना पुलिस को सूचित किया।

मामले की जांच शुरू

घटना की सूचना मिलते ही पुलिस चौकी तुगलवाल इंजार्ज रविद्र सिंह और थाना काहनूवान इंचार्ज तिलोक चंद ने चालक गुरप्रीत सिंह के बयानों को कलम बंद कर आगे की कार्रवाई शुरू कर दी है।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!