संवाद सहयोगी, कादियां :

करीब सवा दो साल पहले मर चुकी एक महिला के खाते से करीब सवा लाख रुपए अज्ञात लोगों की ओर से निकाल लेने पर मृतक की गोद ली बेटी ने कादियां पुलिस थाना में लिखित शिकायत दी है।

ज्योति पुत्री स्व. बलदेव मसीह निवासी गांव काहलवां ने बताया कि उसके जन्म होते ही बलदेव मसीह व उसकी पत्नी ने गोद लेकर पाला था। बलदेव की पांच अक्तूबर 2016 को सड़क हादसे में मौत हो गई थी। उनकी मौत के पश्चात उसकी मां अमतुल को मुआवजा के रूप में कुछ रकम मिली थी। उसने अपना 19 जुलाई 2017 को बैंक आफ बड़ौदा ब्रांच कादियां में अपना खाता खुलवाया था। जिसमें मुआवजे की राशि के अतिरिक्त हर माह उन्हें पेंशन भी इस खाते में आती थी। उसकी मां की संक्षिप्त बीमारी के कारण तीन सितंबर 2018 को मौत हो गई। अपनी मां की मौत के पश्चात जब वह बैंक गई तो बैंक अधिकारियों ने उसे बताया कि जब वह 18 साल की व्यस्क होगी तभी वह अपनी मां के खाते से जमा धनराशि निकलवाने की हकदार होगी।

ज्योति ने बताया कि वह उनकी इकलौती बेटी थी। अपनी मां की मौत के पश्चात वह अपने चाचा हरपाल मसीह वासी काहलवां के परिवार के साथ रहने लगी। उसके चाचा ने उसे परार्मश दिया कि अपनी मां की बैंक अकाउंट अपडेट करवाए। इसके बाद जब वह अपने चाचा के साथ बैंक गई तो उसे बताया गया कि उसकी स्व. मां के खाते में सिर्फ 2300 रुपए हैं। जबकि उसके खाते में 11 मई 2020 तक 1,18,033 रुपए थे।

ज्योति ने बताया कि बैंक ने जो उसे बैंक स्टेटमेंट दी, उसमें सारे पैसे एटीएम कार्ड से निकाले गए हैं। ज्योति ने बैंक अधिकारियों को बताया कि उसकी मां ने तो कभी एटीएम कार्ड लिया ही नहीं है। बैंक ने उसे सलाह दी कि जिन जिन एटीएम से पैसे निकाले गए हैं, उस एटीएम बैंको से जाकर जानकारी प्राप्त करे। ज्योति ने कहा कि मर चुकी महिला का एटीएम बैंक कैसे जारी कर सकता है। हालांकि उसने बैंक को बताया भी था कि उसकी मां मर चुकी है। फिर उसकी मां के खाते से पैसे कैसे निकाल लिए गए।

बैंक कर्मी पर लगाया आरोप

ज्योति ने आरोप लगाया कि यह काम बैंक के किसी कर्मचारी की मिलीभगत से किया गया है। उसने यह भी कहा कि जब उसके बैंक को पता चल चुका है कि किसी ने फराड करके पैसे खाते से निकाल लिए हैं तो बैंक स्वत: कार्रवाई क्यों नहीं कर रहा है।

ज्योति की चाची आशा ने कहा है कि अब जबकि ज्योति बेसहारा है और इन पैसों से ज्योति की शादी करनी का सपना देखा था। इस संबंध में ज्योति ने थाना कादियां में उसकी मां के खाते से धोखाधड़ी करके पैसे निकलवाने की लिखित शिकायत कर दी है।

उधर थाना प्रभरी बलकार सिंह का कहना है कि मामले की जांच एएसआइ जोगिन्द्र सिंह को सौंप दी गई है।

दूसरी ओर बैंक आफ बड़ौदा से इस मामले के बारे में जानकारी हासिल करने के लिए संपर्क करने की कोशिश की गई, मगर बैंक के किसी भी अधिकारी ने फोन नहीं उठाया।

Indian T20 League

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

kumbh-mela-2021