जागरण संवाददाता, बटाला : शहर से सूखा-गीला कचरा इकट्ठा करने के लिए नगर कौंसिल में 24 रिक्शा पहुंच चुके हैं। स्वच्छ भारत मुहिम के तहत 14 लाख रुपये का प्रोजेक्ट जल्द शुरू हो रहा है। वैसे इस स्कीम के तहत शहर में 62 रिक्शा आने हैं। स्कीम के पहले चरण में 24 रिक्शा नगर कौंसिल दफ्तर पहुंच चुके हैं। 32 रिक्शा आने शेष हैं। नगर कौंसिल के सुपरिटेंडेंट निर्मल सिंह ने बताया कि इस स्कीम को अमलीजामा पहनाने के लिए नगर कौंसिल ने काम तेजी से शुरू कर दिया। शहर में नगर कौंसिल की अपनी दो जगह भंडारी मोहल्ला तथा रैणबसेरा में कुल 34 पिट्स बनकर तैयार हो चुके हैं। जबकि योजना के मुताबिक शहर में कुल 140 पिट्स बनाएं जाने हैं। इन पिट्स में नगर-कौंसिल खाद तैयार कर आगे किसानों को नि:शुल्क बांटेगा। पहले चरण में किसानों को बांटेंगे निश्:ाुल्क खाद

अगर स्कीम कामयाब रही तो बाद में इसका रेट तय किया जाएगा। शर्त के मुताबिक रेट काफी कम रखे जाएंगे, ताकि हर किसान इस खाद को खरीद सके। इस प्रोजेक्ट को शुरू करने से पहले नगर कौंसिल ने एक मुंबई की निजी कंपनी से पूरा ज्ञान लिया। कंपनी ने पिछले दिनों नगर-कौंसिल के सेमिनार हाल में एक कैंप लगाया था। उसमें नगर-कौंसिल के अधिकारियों से लेकर हर मुलाजिम को इस स्कीम के हर प्रकार के फायदे बताएंगे। उसके बाद नगर-कौंसिल ने इस पर काम करना शुरू कर दिया। कौंसिल का मानना है कि इस प्रोजैक्ट पर काम शुरू होने से शहर में कचरे से पैदा होने वाली गंदगी भी कम होगी। जनिए क्या है स्कीम

शहर में चारों तरफ कचरा डालने के लिए दो तरह के ड्रम लगाएं जाएंगे। एक ड्रम में सूखा तथा दूसरे ड्रम में गीला कचरा डाला जाएगा। सुबह कचरा उठाने वाली रिक्शा गीला तथा सूखा कचरा लादेंगी। उसके बाद कचरा को नगर कौंसिल डंप पर लेकर जाएंगी। वहां पर कचरा को अलग-अलग करने के बाद पिट्स में डालेंगी। उसके बाद कचरे से किसानों के लिए खाद बनाएंगी। खाद तैयार करने के बाद उसे पहले किसानों को नि:शुल्क बेचा जाएगा। कुल साढ़े चार सौ टन कचरा

कौंसिल के सुपरिटेंडेंट निर्मल सिंह ने बताया कि शहर में प्रतिदिन साढ़े चार सौ टन कचरा इकट्ठा होता है। फिलहाल इस कचरे को ट्रालियों में इकट्ठा करने के बाद बटाला बाईपास में नगर-कौंसिल की डंप में फैंका जाता है। ऐसे में कई लोगों की शिकायत है कि बटाला में कचरा पूरी तरह से नह उठाया जाता है। जिस कारण जगह-जगह पर गंदगी के ढेर लगें रहते है। अगर ये प्रोजेक्ट शुरू हो जाता है तो लोगों को गंदगी से राहत मिल सकती है। अंदरूनी शहर से रिक्शा इकट्ठा करेंगी कचरा

इस स्कीम के तहत बटाला के अंदरुनी शहर से कचरा रिक्शा द्वारा इकट्ठा किया जाएगा। क्योंकि वहां पर ट्रालियों को अंदर ले जाने का प्रावधान नहीं है। इलाके काफी तंग है। इसलिए रिक्शा सबसे बेहतर विकल्प है। दो प्रकार के मिलेंगे डस्टबिन

नगर कौंसिल ने बताया कि कचरा डालने के लिए उन्हें जल्द नगर-कौंसिल की तरफ से दो तरह के डस्टबिन मुहैया कराएं जाएंगे। एक डस्टबिन में सूखा तथा दूसरे में गीला कचरा डाला जाएगा। ये सभी डस्टबिन लोगों को नि:शुल्क मिलेंगे। निजी कंपनी के साथ होगा अनुबंध

इस प्रोजेक्ट के लिए नगर-कौंसिल निजी कंपनी के साथ अनुबंध करेंगी। इसके लिए नगर-कौंसिल के अधिकारियों ने बैठक कर खाका तैयार कर लिया है। जल्द ही प्रक्रिया के तहत नगर-कौंसिल टेंडर लगाने जा रहा है। इन इलाकों में तैयार होंगे पिट्स

वैसे नगर-कौंसिल ने पूरे शहर में पिट्स बनाने के लिए 120 जगह सिलेक्ट किए हैैं, लेकिन अभी तक आठ जगह पर पिट्स बनाने के लिए काम शुरू हुआ। इस बात की पुष्टि नगर-कौंसिल के सेनेटरी इंस्पेक्टर हरिदर कलसी ने की। उन्होंने बताया कि 7 जगह पर शैड्स लगाए जाएंगे, जहां पर खाद तैयार की जाएगी।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!