जागरण संवाददाता, बटाला : जिला पुलिस उत्तर प्रदेश से लाई गई 33,850 प्रतिबंधित गोलियां बरामद करने का दावा कर रही है। इस बात की पुष्टि एसएसपी रछपाल सिंह ने की। थाना कादियां के गांव मुरादपुर निवासी बलकार सिंह, थाना श्री हरगोबिदपुर के गांव माड़ी-पनवा के रहने वाले हरचरण सिंह, उत्तर-प्रदेश के जिला मेरठ, धर्मपुरा मोहल्ला के रहने वाले मोहम्मद शाह के खिलाफ एनडीपीएस एक्ट के अधीन मामला दर्जकर लिया गया है। फरार मोहम्मद शाह की गिरफ्तारी के लिए एक पुलिस की टीम उत्तर प्रदेश रवाना कर दी गई है। पकड़े गए आरोपितों से एक लग्जरी कार भी बरामद हुई। आरोपितों को सोमवार को अदालत में पेश किया गया। वहां से तीन दिन की पुलिस हिरासत में भेज दिया गया।

पुलिस पता लगा रही है कि इनके नेटवर्क में और कौन-कौन लोग शामिल हैं, ताकि उन्हें भी इस केस में शामिल किया जा सकें। प्राथमिक जांच में सामने आया है कि आरोपित प्रतिबंधित गोलियां गुरदासपुर के अलग-अलग क्षेत्र में सप्लाई करने वाले थे, मगर उससे पूर्व ही पुलिस ने दबोच लिया। इनके खिलाफ पूर्व में कितने मामले दर्ज हैं, उस बारे में पुलिस ने रिकार्ड खंगालना शुरू कर दिया। दरअसल हाल ही में थाना सिटी पुलिस ने हजीरा पार्क से बलकार सिंह को प्रतिबंधित गोलियों के साथ गिरफ्तार किया था। उसने पूछताछ में कबूला था कि उसके तार उत्तर प्रदेश के मोहम्मद शाह के साथ जुड़े हैं। उसका एक साथी माड़ी पंनवा का रहने वाला हरचरण सिंह है। पुलिस ने रेड कर उसके पास चार हजार नशीली गोलियां बरामद की।

रविवार डीएसपी (डी) गुरबिदर सिंह, नारकॉटिक्स विभाग की संयुक्त टीम ने जालंधर-बटाला बाईपास पर नाका लगा दिया। सामने से आ रही एक लग्जरी कार को रुकने का इशारा किया। कार चालक मौके से अंधेरे का फायदा उठाकर फरार हो गया। तलाशी लेने पर कार से 29,850 प्रतिबंधित गोलियां बरामद हुई। इस तरह से पुलिस ने पकड़े गए आरोपितों से कुल 33,850 प्रतिबंधित गोलियां बरामद की। आरोपित बलकार सिंह पर पूर्व में दर्ज मामला

पुलिस के मुताबिक आरोपित बलकार सिंह के खिलाफ पूर्व में एनडीपीएस एक्ट के तहत 2016 में थाना घुमान में मामला दर्ज है। उस मामले को लेकर अदालत में केस विचाराधीन है। जमानत पर बाहर आने के बाद आरोपित ने फिर से यह धंधा शुरू कर दिया। आरोपित ने ही केस के किगपिन का खुलासा किया है। कार में सवार था आरोपित मोहम्मद शाह

पुलिस सूत्रों से अंदेशा लगाया जा रहा है कि जिस लग्जरी कार को छोड़कर चालक भागा था उसे आरोपित मोहम्मद शाह चला रहा था। फिलहाल पुलिस ने इस बारे कोई अधिकारिक पुष्टि तो नहीं की। इतना जरूर कहा कि आरोपित को गिरफ्तार करने के बाद एक टीम यूपी रवाना कर दी गई, जिसे जल्द गिरफ्तार कर लिया जाएगा। प्रतिबंधित गोलियां दवा विक्रेता को बेचनी थी

पुलिस पूछताछ में पकड़े गए आरोपितों ने कबूला है कि वे इन प्रतिबंधित गोलियों को दवा विक्रेता को सस्ते दाम पर बेचने का प्लान बनाया था। किन-किन दवा विक्रेता के संपर्क में आरोपित थे। पुलिस इसकी जांच में जुट गई है। रिमांड के दौरान उक्त दवा विक्रेता दुकानदारों की पहचान कर उन्हें गिरफ्तार किया जा सकता है।

kumbh-mela-2021

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप