गुरदासपुर , जेएनएन। लूटपाट, हत्या, डकैती, हेरोइन तस्करी के मामलों में गिरफ्तार घुद्दा गैंग के तीनों आरोपित किसी भी घटना को अंजाम देने के बाद हिमाचल भाग जाते थे। वहां मैकलोडगंज में होटल लेकर लूटी हुई धनराशि से ऐश करते थे। अगर बड़ी वारदात को अंजाम देते थे तो कोलकता या गुजरात में पीजी लेकर रहते थे। मामला ठंडा होने व पैसे खत्म होने पर आरोपित दोबारा से किसी न किसी घटना को अंजाम देने के लिए पंजाब आ जाते थे।

एसएसपी कार्यालय में सोमवार को आयोजित प्रेस कांफ्रेंस में आइजी सुरिंदरपाल सिंह परमार ने बताया कि इन आरोपितों ने 20 जुलाई 2020 को गांव रुडियाना के कोआपरेटिव बैंक में से 5 लाख 50 हजार की डकैती को अंजाम दिया था। आरोपितों ने पूछताछ दौरान कबूला कि 17 जनवरी को उन्होंने ही चौंतरा पोस्ट से पाकिस्तान के तस्करों से मिलकर 22 पैकेट हेरोइन मंगवाई थी, जोकि बीएसएफ ने पकड़ ली थी।

इस संबंध में पुलिस ने मामला भी दर्ज किया था। इस मामले में घुद्दा गैंग के सुखदीप सिंह निवासी रुडियाना और उसके साथियों का हाथ था। इसके बाद 29 जुलाई 2020 को गांव रुडियाना में कोआपरेटिव बैंक में से 5 लाख 50 हजार की डकैती हुई थी। इसके पीछे भी घुद्दा गैंग का हाथ था। इसके अलावा घुद्दा गैंग ने अनाज मंडी हरदोछन्नी में हरप्रीत ¨सह बथवाला को गोली मारी थी। बैंक से लूटे गए साढ़े पांच लाख रुपये में से पांच लाख किए खर्च आरोपित सुखदीप ¨सह घुद्दा ने बताया कि हेरोइन मंगवाने में कलानौर का हरजीत सिंह जीता ने भी उनका साथ दिया था। बैंक में की गई डकैती में उन्होंने साढ़े पांच लाख रुपये लूटे थे। उसमें से उनके पास अब मात्र 40 हजार रुपये ही बचे हैं। बाकी उन्होंने खर्च कर दिए।

उनकी निशानदेही पर पुलिस ने तीसरे आरोपित हरजीत ¨सह को गिरफ्तार कर उससे एक पिस्तौल और छह कारतूस बरामद किए। पुलिस अधिकारियों ने बताया कि उक्त आरोपितों पर पहले भी अमृतसर सहित विभिन्न इलाकों में चोरी आदि के केस दर्ज थे। कई मामलों में ये लंबे समय से वांछित थे।

इन बड़ी वारदात में थे वांछित

-29 जुलाई 2020 को गांव रुडियाना के कोआपरेटिव बैंक में साढ़े पांच लाख की हुई लूट।

--17 जनवरी 2020 को पाकिस्तान के तस्करों से मिलकर 22 पैकेट हेरोइन मंगवाने।

-अनाज मंडी हरदोछन्नी में हरप्रीत ¨सह बथवाला की गोली मारकर की गई हत्या।

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!