जागरण संवाददाता, गुरदासपुर : जिला प्रशासन की लापरवाही से श्री बावा लाल दयाल जी के जन्म उत्सव को लेकर छुट्टी नहीं हो पा रही है। दरअसल श्री बावा लाल दयाल सोसायटी की तरफ से दो महीने पहले ही डिप्टी कमिश्नर गुरदासपुर को इस मामले संबंधी मांगपत्र सौंपकर छुट्टी की मांग की थी, लेकिन अधिकारियों ने इस पर गंभीरता नहीं दिखाई। सात जनवरी को चुनाव आचार संहिता लागू होने के बाद भी श्री बावा लाल दयाल सोसायटी के सदस्य डिप्टी कमिश्नर से मिले और उन्हें दो फरवरी को छुट्टी करने संबंधी आग्रह किया गया। हालांकि इस दौरान छुट्टी को लेकर फैसला चुनाव कमिश्नर की तरफ से ही किया जाना है। बता दें कि दो फरवरी को जिले में श्री बावा लाल दयाल जी के जन्म उत्सव को लेकर काफी संगत एकत्रित होती है। बटाला जिले के श्री ध्यानपुर धाम में प्राचीन ऐतिहासिक मंदिर परिसर में हजारों की तादाद में श्रद्धालु नतमस्तक होते हैं। ऐसे में दो फरवरी को छुट्टी की मांग को लेकर सभी अनुयायियों की तरफ से लगातार प्रशासन से अपील की जा रही है। आज दिया जाएगा धरना

श्री बाबा लाल दयाल मंदिर कमेटी के सदस्य संजीव, अमन कुमार, सुनील कुमार, अशोक कुमार आदि ने बताया कि हजारों की तादाद में महिलाएं श्री बावा लाल दयाल जी के जन्म उत्सव को लेकर शोभायात्रा का आयोजन करती है। कोरोना वायरस के चलते भले ही इस कार्यक्रम को स्थगित कर दिया गया होगा। लेकिन छुट्टी को लेकर अनुयायियों की आज तक मांग चल रही है। उनका कहना है कि अगर दो फरवरी को छुट्टी नहीं होगी तो सोमवार को हजारों की तादाद में अनुयाई शहर की किसी भी सड़क को जाम कर प्रदर्शन कर सकते हैं। हालांकि इसके बारे में स्पष्ट नहीं है कि किस सड़क पर धरना दिया जाएगा। राजनीतिक पार्टियों ने भी उठाया मुद्दा

कांग्रेस पार्टी के मौजूदा विधायक, अकाली दल के पूर्व विधायक से लेकर आम आदमी पार्टी और भाजपा के नेताओं ने श्री बावा लाल दयाल जी के जन्म उत्सव को लेकर छुट्टी करने की मांग को लेकर प्रशासन पर दबाव बनाने की कोशिश की है। हालांकि इन सब कोशिशों के बावजूद भी प्रशासन के सिर पर कोई असर नहीं हो रहा है।

Edited By: Jagran