संवाद सहयोगी, कादियां : थाने के अंतर्गत पड़ते गांव भंगवा के सेवानिवृत्त फौजी मंदीप सिंह की शनिवार रात को हत्या करने का सनसनीखेज मामला सामने आया है। मंदीप सिंह फौज से सेवानिवृत्त होने के बाद चंडीगढ़ में एक प्राइवेट कंपनी में काम करता था। हत्या करने के बाद उसका शव सड़क के किनारे फेंक दिया गया। पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर अज्ञात लोगों के खिलाफ मामला दर्ज करके अगली कार्रवाई शुरू कर दी है।

मामले संबंधी जानकारी देते हुए अमरीक सिंह ने बताया कि उनका भाई मंदीप सिंह (35) सेना में नौकरी करता था। वह 17 साल की नौकरी के बाद रिटायर्ड होकर वापस अपने घर आया था। अभी वह चंडीगढ़ में एक प्राइवेट कंपनी में नौकरी कर रहा था। रविवार सुबह सात बजे राहगीरों ने पुलिस को फोन पर बताया कि सड़क के किनारे किसी युवक का शव पड़ा है। जब उन्होंने वहां जाकर देखा तो उक्त शव उसके भाई मंदीप सिंह का था, जिसकी तेजधार हथियारों से हत्या की गई थी। अमरीक सिंह ने बताया कि गत रात मंदीप सिंह बिना बताए ही चंडीगढ़ से अपने घर वापस आ रहा था। उसकी जेब से बटाला से कादियां की टिकट भी मिली है। लेकिन देर रात ही अज्ञात व्यक्तियों ने तेजधार हथियारों से काटकर उसकी हत्या कर शव को गांव खारा के थोड़ा आगे सड़क के किनारे फेंक दिया। इस संबंधी थाना प्रभारी सुखराज सिंह का कहना है कि शव को कब्जे में लेकर आगे की जांच शुरू कर दी है। पुलिस की एक्सपर्ट टीम ने फिगर प्रिट लिए हैं और अज्ञात लोगों के खिलाफ हत्या का केस दर्ज कर जांच शुरू कर दी गई है। उधर, इस घटना को लेकर इलाके में दहशत का माहौल है। दो बेटों के सिर से उठा पिता का साया

मंदीप सिंह अपने पीछे दो बेटे और पत्नी को छोड़ गया है। मृतक के भाई ने पुलिस प्रशासन से मांग की है कि आरोपितों को जल्द से जल्द पकड़ा जाए।

Edited By: Jagran