जेएनएन, बटाला [गुरदासपुर]। पुलिस थाना बटाला में पड़ते गांव हरचोवाल का जवान गुरचरण सिंह पाकिस्तान की फौज की ओर से की गई गोलाबारी के दौरान शहीद हो गया। वह 14 सिख रेजीमेंट में तैनात था। गांववासियों ने बताया कि गुरचरण सिंह कुछ समय पहले ही गांव से वापस कश्मीर में अपनी डयूटी पर लौटा था। वहीं पर राजौरी सेक्टर में पाकिस्तान की गोलाबारी में शहीद हो गया। शहीद का पार्थिव शरीर देर रात गांव पहुंचने की संभावना है।

बताया जा रहा है कि 29 वर्षीय शहीद गुरचरण सिंह 17 वर्ष की आयु में सेना में भर्ती हुआ था। शहीद के दो बच्चे हैंं, जिनमें एक दो वर्षीय लड़का तथा एक एक वर्षीय लड़की है। शहीद के पिता सलविंद्र सिंह खुद सेना में थे। वे अब सेवानिवृत हो चुकेे हैैैंं। बता दें, जम्मू-कश्मीर के राजौरी सेक्टर में पाकिस्तान के संघर्ष विराम उल्लंघन में गुरचरण सिंह को गोली लगी। गोली राजौरी के तरकुंडी सेक्टर में भारी गोलाबरी के दौरान लगी। गोलाबरी में गुरचरण सिंह के साथ-साथ नागरिक भी घायल हुआ। पाकिस्तान ने इस साल अब तक नियंत्रण रेखा और अंतरराष्ट्रीय सीमा पर कई बार संघर्ष विराम का उल्लंघन किया है।

वहीं, गांव में जब इस बात का पता चला कि पाकिस्तान की ओर से की गई गोलीबारी में गुरचरण सिंह शहीद हो गया है तो वहांं शोक की लहर दौड़ पड़ी। घर परिवार में मातम पसर गया। शहीद के घर पर सांत्वना देने के लिए लोग पहुंचने शुरू हो गए हैं। शहीद का पार्थिव शरीर आज देर रात या कल सुबह तक यहां पहुंचने की संभावना है। गांव के ही श्मशान घाट में शहीद का अंतिम संस्कार सैन्य सम्मान के साथ किया जाएगा।

यह भी पढ़ें: किसानों के लिए अच्छी खबर, सरकार सहकारी बैंक से कर्ज लेने की लिमिट बढ़ाएगी, खाका तैयार

यह भी पढ़ें: करनाल में Bollywood Actor Dharmendra के रेस्टोरेंट पर कब्जा, खुद को पार्टनर बता मांगे डेढ़ करोड़

यह भी पढ़ें: अदालतों में अब नॉन अर्जेंट केस की भी होगी फाइलिंग, रखना होगा पांच बातों का ध्यान

यह भी पढ़ें: पंजाब की कैप्टन अमरिंदर सिंह सरकार के एक और मंत्री विवादों में, जमीन घोटाले के आरोप

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!