संवाद सहयोगी, गुरदासपुर :

ग्रामीण क्षेत्रों में कोरोना का सैंपल व वैक्सीनेशन के लिए सेहत विभाग द्वारा कैंप लगाए गए हैं। लेकिन हैरानी की बात है कि गांवों के लोग न तो कोरोना की जांच करवाने में कोई रुचि ले रहे हैं और ना ही वैक्सीनेशन में। अलबत्ता टीम को देख कर घरों में छिप रहे हैं। हालांकि सेहत विभाग द्वारा ग्रामीण क्षेत्रों में जागरुकता वैन व गुरुद्वारों में अनाउंसमेंट करवाकर गांवों के लोगों को जागरुक करने का प्रयास किया जा रहा है। लेकिन फवाहों के कारण ग्रामीण टीकाकरण और कोरोना जांच शिविरों में नहीं पहुंच रहे हैं।

उधर, डीसी मोहम्मद इशफाक द्वारा भी ग्रामीणों को फेसबुक पर लाइव प्रोग्राम में जागरुक किया जा रहा है, तब भी लोगों पर इसका कोई असर नहीं हो रहा है। अगर पिछले दो महीनों की बात की जाए तो जिले में कोरोना संक्रमित मिले अधिकतर मरीज गांवों से संबंधित हैं। यहां तक कि कोरोना से मरने वाले अधिकांश मरीज भी ग्रामीण इलाकों से ही संबंधित हैं। यह जानकारी खुद डीसी भी दे चुके हैं। इतने पर भी लोग कोरोना की जांच करवाने और वैक्सीनेशन से मुंह फेरेंगे तो ऐसे में कोरोना संक्रमण को रोक पाना काफी मुश्किल है। गांव हेमराज में लगे कैंप में नहीं आया कोई

ताजा मामले में जिले के गांव हेमराज में सेहत टीम द्वारा लगाए गए कैंप में गांव के लोग सैंपलिग व वैक्सीनेशन करवाने नहीं आए। सेहत टीम के बार बार गांव के गुरुद्वारा साहिब से घोषणा करवाने पर भी लोग अपने घरों से नहीं निकले। सेहत टीम पूरा दिन खाली हाथ बैठी रही। लेकिन गांव के लोग वैक्सीनेशन व सैंपलिग करवाने नहीं आए। आखिरकार सरपंच व उनके कुछ अन्य चार पांच साथियों ने ही सैंपलिग व वैक्सीनेशन करवाई। बाकी गांव के किसी भी व्यक्ति ने वैक्सीनेशन नहीं करवाई। सिविल सर्जन ने वैक्सीनेशन सेंटरों का दौरा किया शनिवार को सिविल सर्जन डा. हरभजन राम मांडी ने वैक्सीनेशन सेंटरों का दौरा कर वैक्सीनेशन प्रक्रिया का जायजा लिया। सबसे पहले सिविल सर्जन ने सरकारी सीनियर सेकेंडरी स्कूल (लड़के) गुरदासपुर में स्थापित सेंटर का दौरा किया। वैक्सीनेशन करवाने आए लोगों के साथ उन्होंने बातचीत कर सेहत विभाग द्वारा जारी गाइडलाइन का पालन करने के लिए प्रेरित किया।

सीएस डा. मांडी ने बताया कि कोरोना महामारी की दूसरी लहर से बचाव के लिए कोरोना वैक्सीन जरूरी लगवाएं। वैक्सीन पूरी तरह से सुरक्षित और कारगर है। यदि किसी व्यक्ति को कोरोना के लक्षण दिखाई देते हैं तो वह तुरंत अपना कोरोना टेस्ट करवाएं।

इन केंद्रों पर लगाई जा रही है वैक्सीन उन्होंने बताया कि जिले के सरकारी सीनियर सेकेंडरी स्कूल लड़के गुरदासपुर, सरकारी सीसे स्कूल लड़के धर्मपुरा बटाला, डीएवी प्राइमरी स्कूल कादियां, सरकारी सीसे स्कूल कलानौर. सरकारी सीसे लड़कियां डेरा बाबा नानक, सरकारी सीनियर सेकेंडरी स्कूल नौशहरा मज्झा सिंह, सरकारी सीसे स्कूल ध्यानपुर, सीसे स्कूल भाम, सरकारी सीसे स्कूल दोरांगला, सरकारी सीसे स्कूल भुल्लर, सरकारी सीसे स्कूल बहरामपुर, सरकारी सीसे स्कूल बरियार, सरकारी सीसे स्कूल दोरांगला, सरकारी सीसे स्कूल लड़कियां फतेहगढ़ चूड़ियां, सरकारी सीसे स्कूल काहनूवान, सरकारी सीसे स्कूल बरियार, रणजीत बाग में बनाए गए वैक्सीनेशन सेंटर में टीकाकरण किया जा रहा है। ग्रामीण क्षेत्र के लोग सैंपलिग व वैक्सीनेशन जरुर करवाएं

डीसी मोहम्मद इशफाक का कहना है कि जिले में कोरोना संक्रमण काफी बढ़ता चला जा रहा है। इसलिए ग्रामीण क्षेत्र के लोग जिला प्रशासन का सहयोग करें। उन्होंने कहा कि ग्रामीण क्षेत्रों स सूचनाएं मिल रही हैं कि लोग सेहत विभाग की टीम के पास नहीं आ रहे। ऐसा करके लोग अपना खुद का व अपने परिवार का नुकसान कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि अफवाहों से दूर रहें और कोरोना का टीका लगवाएं और सैंपलिग अवश्य करवाएं।