संवाद सहयोगी, दीनानगर : दीनानगर में गुरदासपुर मुख्य राज्य मार्ग पर सड़क की सफेद पट्टी पर खड़े भारी वाहन हादसों का कारण बन रहे हैं। हैरानी की बात तो यह है कि रोजाना इन वाहनों के कारण हो रहे हादसों के बाद भी प्रशासन आंखें मूंद कर बैठा है। उल्लेखनीय है कि पिछले दिनों जिला प्रशासन द्वारा सड़कों के किनारे खड़े भारी वाहनों को लगभग 10 फीट दूर खड़ा करने के आदेश जारी किए गए थे। लेकिन अभी तक इन आदेशों का पालन नहीं किया जा रहा है। राज्य हाईवे होने के कारण इस मार्ग से रोजाना हजारों की संख्या में लोग सफर करते हैं, लेकिन सड़क के किनारे खड़े भारी वाहनों के चलते आए दिन कोई न कोई यात्री हादसे का शिकार हो जाता है। रात के समय बिना पार्किंग लाइट के खड़े इन वाहनों में दर्जनों बार दो पहिया वाहन चालक या अन्य छोटे वाहन इनके साथ टकरा चुके हैं, लेकिन इन वाहनों के चालक बिना किसी रोकटोक के सड़कों पर ही अपने वाहन खड़े कर देते हैं।

इन भारी वाहनों का सड़क पर खड़े रहना सड़क के किनारे बिना पार्किंग बने ढाबों तथा दुकानों के साथ जुड़ा हुआ है। क्योंकि अधिकतर भारी वाहन चालक ढाबों पर पार्किंग न होने के कारण वाहनों को सड़क पर ही खड़ा करके चले जाते हैं। ऐसे में इन भारी वाहनों से टकराने के कारण अन्य वाहन क्षतिग्रस्त हो जाते हैं। हादसे न हों इसलिए आदेश लागू करवाए पुलिस लोगों ने जिला प्रशासन से मांग की है कि उनके आदेशों की उड़ रही धज्जियां को रोकने के लिए कोई ठोस कदम उठाया जाए, ताकि इस वजह से हादसे न हो। स्थानीय निवासी मलकीत ¨सह, संजय कुमार, रवि प्रशाद, मक्खन ¨सह, जरनैल ¨सह, सज्जन ¨सह आदि सहित बड़ी संख्या में लोगों ने प्रशासन से मांग की है कि सड़कों पर खड़े इन भारी वाहनों को नियमों के अनुसार उचित जगह पर पार्क करने के लिए कहा जाए।

Posted By: Jagran