गुरदासपुर [बाल कृष्ण कालिया]। New motor vehicle act: क्षेत्रीय परिवहन कार्यालय गुरदासपुर में धालीवाल क्षेत्र से चालान भुगतने आया दलबीर सिंह 10 हजार रुपये जुर्माना सुनते ही चक्कर आने से गिर गया। साथ में खड़े लोगों ने संभाला और पानी पिलाया।

दलबीर सिंह की बाइक का करीब एक हफ्ता पहले धालीवाल पुलिस ने चालान कर दिया था। उसके पास लाइसेंस और प्रदूषण प्रमाण पत्र नहीं था। जब वह क्षेत्रीय परिवहन दफ्तर गुरदासपुर पहुंचा तो मुलाजिमों ने चालान के 10 हजार मांगे। इतना जुर्माना सुनते ही वह जमीन पर गिर गया। उसे संभालने के बाद साथ आए लोग उसे वहां से ले गए। दलबीर सिंह ने बताया कि उसके पास इतने पैसे नहीं हैं कि बाइक का 10 हजार रुपये जुर्माना चुका पाए। वह गांव में दुकान करता है। सरकार को अगर ज्यादा जुर्माना लगाना है कि तो लोगों को रोजगार भी दे ताकि वह इतना जुर्माना सरकार को चुका भी पाएं।

22 हजार जुर्माना जमा करवा एक महीने बाद छुड़ाया ऑटो

क्षेत्रीय कार्यालय में शुक्रवार को पठानकोट से भी एक बुजुर्ग पुलिस के कब्जे से ऑटो को छुड़ाने के लिए पहुंचा। उसे 22 हजार रुपये जुर्माना जमा करवाना पड़ा। बुजुर्ग ने बताया कि घर का खर्च चलाने के लिए उसने पत्नी और बहू के जेवर बेचकर ऑटो खरीदा था। कुछ दिन पहले पठानकोट पुलिस ने ऑटो को जब्त कर लिया। ऑटो का परमिट, लाइसेंस, बीमा और रजिस्ट्रेशन नहीं होने का चालान किया गया था। ऑटो एक महीने से थाने में बंद है। घर का गुजारा चलाना मुश्किल हो गया है। 22 हजार रुपये उधार लेकर जमा करवाए हैं। अब ऑटो को छुड़ाया जाएगा।

चालान भुगतान की संख्या हुई कम

जुर्माने की दरें बढ़ने के बाद क्षेत्रीय परिवहन कार्यालय में चालान भुगतान के लिए आने वाले लोगों की संख्या भी कम हो गई है। पहले एक दिन में 100 से अधिक लोग रोजाना चालान भुगतने आते थे, लेकिन अब दिन में 10 से 15 लोग ही आ रहे हैं।

लोग दस्तावेज पूरे रखें : आरटीओ

आरटीओ बलदेव सिंह ने कहा कि वाहन चलाते समय लोग अपने दस्तावेज पूरे रखें। लोग तभी भारी भरकम जुर्माने से बच सकते हैं। लोगों को ट्रैफिक नियमों के प्रति जागरूक करने के लिए विशेष अभियान भी चलाया जाएगा।

हरियाणा की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

पंजाब की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

Posted By: Kamlesh Bhatt

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!