संवाद सहयोगी, बटाला : मांगों को लेकर मिड-डे-मील वर्कर यूनियन पंजाब की ओर से शहीद भाई सुक्खा सिंह मेहताब सिंह पार्क में यूनियन की सोनी, रचना, परमजीत, जिला सचिव सतिदर कौर की अध्यक्षता में पंजाब सरकार के खिलाफ धरना प्रदर्शन किया। संबोधन करते जिला नेता कामरेड कप्तान सिंह और मिड-डे-मील यूनियन के पंजाब जनरल सचिव मनजीत राज ने कहा कि केंद्र और पंजाब सरकार के राज में कच्चे मुलाजिमों की हालत तरसयोग बनी हुई है, जिसमें यह वर्कर 17-18 सालों से स्कीम वर्कर के तौर पर स्कूलों में बतौर कुक का काम करते आ रहे हैं। समय-समय की सरकारों ने इनके साथ धक्का ही किया है, जोकि गलत है। स्कूल में एक वर्कर को 50 से अधिक बच्चों का खाना बनाना पड़ता है। जो मानभत्ता उनको सरकार देती है वह पहले 1700 रुपए था, अब पिछले महीना जिला गुरदासपुर के कुछ स्कूलों में बढ़ाकर 2500 रुपए कर दिया गया है। कानून अनुसार वर्करों से काम नहीं करवाया जा रहा, बल्कि वर्करों को स्कूल से निकालने के लिए धमकाया जाता है। स्कूलों में टीचर उनसे सफाई का भी काम लेते हैं, जोकि गलत है। वर्करों का मानभत्ता 6-6 महीने से रुका हुआ है। कईयों को पिछले साल का बकाया तक नहीं मिला। उन्होंने मांग की कि वर्करों से स्कूल की सफाई का काम लेने वाले टीचरों के खिलाफ कार्रवाई की जाए, बनता बकाया शिक्षा मंत्री के समझौते अनुसार 3400 रुपए दिया जाए, हर वर्कर को गर्मी की दो वर्दियां और सर्दी की दो वर्दियां दी जाएं, मिड-डे-मील स्कीम वर्करों को पक्का किया जाए, हर महीने की पहली तारीख को वेतन दिया जाए। जिस स्कूल में वर्कर को तंग परेशान किया जाता है, उसके खिलाफ विभागीय कार्रवाई करवाई जाएगी। इस मौके सुक्खी, नीतू, हरजिदर कौर, कशमीर कौर, कांता, दलबीर कौर, नीलम, ज्योति आदि मौजूद थे।

Edited By: Jagran