संवाद सहयोगी, बटाला : सिविल सर्जन गुरदासपुर की तरफ से बटाला के निजी नशा छुड़ाओ केंद्र संजीवनी में अचानक चेकिग की गई। इस दौरान हेल्थ डिपार्टमेंट की तरफ से भेजी गई टीम ने संजीवनी में दवाओं के स्टॉक, स्टाफ और मरीजों को दी जाने वाली सुविधाओं की जांच की गई। टीम ने बताया कि सेंटर में चे¨कग के दौरान कोई कमी नहीं पाई गई और हेल्थ विभाग की तरफ से सभी प्राइवेट अस्पतालों में एचआइवी चे¨कग फ्री करने की हिदायत दी गई है। मंगलवा़र सुबह करीब 11 बजे सिविल सर्जन गुरदासपुर किशन कुमार और उनके साथ साईकेट्रिस्ट डॉ. व¨रदर मोहन, एमओ डॉ. नितेश, राजेश कुमार और सिविल अस्पताल के एसएमओ डा. संजीव कुमार भल्ला बटाला के प्राईवेट नशा छुडाऊ केंद्र संजीवनी में पहुंचे और वहां पर दवाओं के स्टॉक की चे¨कग की गई। इस दौरान सिविल सर्जन किशन कुमार ने कहा कि सरकार के दिशा निर्देशों के तहत अचानक चे¨कग की गई है। अस्पताल के दवाओं के स्टाक, वहां पर रखे स्टाफ और रिर्काड की जांच की गई। इसमें टीम ने सभी ठीक पाया है और इलाज करवाने आए मरीजों ने भी स्टाफ और प्रबंधन की तरफ से इलाज सही तरीके से करने की बात कही है। पिछले साल के मुकाबले इस समय नशा करने वालों की तादाद में कमी आई है और जिला गुरदासपुर में अभी तक करीब 85 सौ मरीज रजिस्टर्ज किए गए हैं, जिनमें से ज्यादतर लोग नशे की दलदल से काफी हद तक निकल चुके हैं।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!