विनय कोछड़, बटाला

लारेंस बिश्नोई गैंग के गिरफ्तार आरोपितों से पुलिस पूछताछ में नई जानकारी सामने आ रही है। उक्त आरोपितों का दो दिन का रिमांड मंगलवार को खत्म हो गया। पुलिस इनके खालिस्तानियों से संबंध भी खंगाल रही है। पुलिस का प्रयास है की कि इन्हें अदालत में पेश कर अधिक दिनों की रिमांड हासिल कर सके। उधर, मुख्य आरोपित हिम्मत सिंह का पुलिस के हाथ कोई सुराग नहीं लगा है। विभिन्न टीमों ने फरार आरोपितों के रिश्तेदारों और जानकारों के घर छापेमारी की, मगर वहां पर उसके बारे कोई जानकारी हासिल नहीं हुई है।

गौर हो कि पहले भी गैंगस्टरों के साथ खालिस्तानियों के संबंध जगजाहिर हैं। पिछले दौर में खुफिया विभाग पुलिस को इस बारे अपने इनपुट भी दे चुका है। उधर, पुलिस द्वारा अंदेशा जताया जा रहा है कि पकड़े गए आरोपितों ने रंगदारी के पैसे से हथियार खरीदे हैं। थाना घुमाण के एसएचओ सुरेंदर सिंह ने बताया कि केस में 307 की धारा भी आरोपित के खिलाफ जोड़ दी गई है। इससे पूर्व आरोपितों के खिलाफ पुलिस पर गोली चलाने, सरकारी कार्य में विघ्न, अवैध हथियार, पुलिस पर हमला करने की धाराओं के साथ मामला करने का मामला दर्ज किया था। मुख्य आरोपित को गिरफ्तार करने की कोशिश

एसएसपी रशपाल सिंह ने बताया कि फिलहाल उनकी पूछताछ में आरोपितों द्वारा खालिस्तानियों के साथ संबंध की कोई बात तो सामने नहीं आई है। फिर भी वह उनसे पूछताछ कर रहे हैं। मुख्य आरोपित हिम्मत सिंह अपने अन्य साथी समेत फरार है, जिसकी गिरफ्तारी के लिए उनकी टीमों द्वारा निरंतर छापेमारी जारी है।

Indian T20 League

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

kumbh-mela-2021