जासं, गुरदासपुर। दीनानगर थाने के अंतर्गत आते इलाके में भारी मात्रा में विस्फोटक पदार्थों की बरामदगी के मामले में शामिल आतंकी आशीष मसीह के मेंटल अस्पताल अमृतसर से फरार होने की साजिश उसके गैंगस्टर पिता जोबन मसीह ने रची थी। उसी की साजिश के तहत आरोपित आशीष मसीह ने पहले केंद्रीय जेल गुरदासपुर में दिमागी बीमार होने का बहाना बनाया और फिर इलाज के लिए मेंटल अस्पताल में दाखिल हो गया। वहां से वह तीन सितंबर को पुलिस गार्द को चकमा देकर फरार होने में सफल रहा। इसके बाद भी वह लगातार अपने पिता के संपर्क में रहा। उसी की सहायता से वह इधर-उधर छिपता रहा।

एसपी (डी) प्रिथीपाल सिंह ने बताया कि सीआइए स्टाफ ने आरोपित जोबन मसीह को 28 नवंबर को दिल्ली से गिरफ्तार किया था। उसे अदालत में पेशकर एक दिन के पुलिस रिमांड पर लिया गया। उसने पूछताछ के दौरान बताया कि आरोपित आशीष मसीह गुरदासपुर में ही है। पुलिस ने इस इनपुट के आधार पर आरोपित की तलाश शुरू कर दी और गांव मान कौर सिंह बाईपास से नाकेबंदी के दौरान उसे गिरफ्तार कर लिया गया। अब पुलिस उसे अदालत में पेशकर रिमांड पर लेने का प्रयास कर रही है ताकि उसे पनाह देने वालों की पहचान कर उनके खिलाफ भी कानूनी कार्रवाई की जा सके।

आतंकी आशीष मसीह के खिलाफ दर्ज मामले

  • 10 नवंबर 2019 को थाना सदर में केस।
  • 13 मार्च 2019 को थाना सिटी गुरदासपुर में केस।
  • 28 मई 2021 को थाना पुरानाशाला में केस।
  • 16 मार्च 2019 को थाना सदर में केस।
  • 25 फरवरी 2019 को थाना धारीवाल में केस।
  • 2 दिसंबर 2021 को थाना सदर में केस।
  • 7 जनवरी 2022 को थाना सिटी नवांशहर में केस।
  • 20 जनवरी 2022 को थाना दीनानगर में केस।
  • 3 सितंबर 2022 को थाना मजीठा रोड में केस।
  • 30 नवंबर 2022 को थाना सिटी में केस।

एएसआइ पर गाड़ी चढ़ाने का किया था प्रयास

जोबन मसीह ने तीन सितंबर को एएसआइ पर गाड़ी चढ़ाने का प्रयास किया था। जोबन के खिलाफ 28 आपराधिक मामले दर्ज हैं। इसी दिन उसका आतंकी बेटा आशीष मसीह मेंटल अस्पताल अमृतसर से फरार हो गया था। पुलिस उच्चाधिकारियों के निर्देश पर थाना तिब्बड़ की पुलिस पार्टी फरार आतंकी की तलाश में उसके घर गोहत पोखर पहुंची तो इस दौरान आरोपित का पिता जोबन मसीह, मां वीनस, बहन महक और चाहत निवासी गुरदासपुर घर के दरवाजे पर खड़े मिले।

आशीष के बारे में पूछने पर उन्होंने कहा कि वे कुछ नहीं जानते। पुलिस पार्टी ने घर के अंदर जाने का प्रयास किया तो आरोपितों ने उन्हें रोक दिया। इस बीच घर का दरवाजा बंद कर जोबन मसीह जबरन बाहर खड़ी कार में सवार हो गया और कार का दरवाजा बंद कर लिया।

पुलिस पार्टी ने जब कार का दरवाज खोलने का प्रयास किया तो जोबन मसीह ने मार डालने की नीयत से कार को एएसआइ रछपाल सिंह पर चढ़ाने का प्रयास किया। एएसआइ ने बड़ी मुश्किल से वहां से हटकर जान बचाई। इसके बाद आरोपित मौके से फरार हो गए। पुलिस ने चारों आरोपितों के खिलाफ हत्या के प्रयास का मामला दर्ज कर लिया था।

यह भी पढ़ें - अमृतसर मेंटल अस्पताल से फरार हुआ आतंकी गुरदासपुर से गिरफ्तार

जागरण संवाददाता, गुरदासपुर : अमृतसर के मेंटल अस्पताल से पुलिस गार्द को चकमा देकर फरार होने वाले आतंकी आशीष मसीह को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। उससे 32 बोर का एक पिस्टल और पांच कारतूस बरामद किए गए हैं। पुलिस आरोपित को अदालत में पेश कर रिमांड पर लेने का प्रयास कर रही है।

ज्ञात रहे है कि आरोपित आशीष मसीह निवासी गांव गोहत पोखर (गुरदासपुर) के खिलाफ 20 जनवरी 2022 को दीनानगर से दो अंडर बेरल ग्रेनेड, एक अंडर बेरल ग्रेनेड लांचर, नौ इलेक्ट्रोनिक डेटोनेटर, दो टाइमर सेट और तीन किलो 700 ग्राम आरडीएक्स बरामदगी के मामले में केस दर्ज किया गया था। इस मामले में उसे गिरफ्तार कर केंद्रीय जेल गुरदासपुर भेज दिया गया था। 29 अगस्त 2022 को उसे इलाज के लिए मेंटल अस्पताल अमृतसर में दाखिल करवाया गया था, जहां से वह तीन सितंबर को पुलिस गार्द को चकमा देकर फरार हो गया था।

उसे गिरफ्तार करने के लिए पुलिस की विभिन्न टीमें बनाई गई थीं। 30 नवंबर को सीआइए स्टाफ और थाना सिटी की पुलिस ने गांव मान कौर सिंह बाईपास के पास स्थित एक पैलेस के पास नाकेबंदी कर रखी थी। इस दौरान आरोपित आशीष मसीह को बिना नंबर की एक्टिवा के साथ काबू किया गया। आरोपित की तलाशी के दौरान एक 32 बोर पिस्टल और पांच बरामद किए गए हैं। ज्ञात रहे कि आरोपित के पिता जोबन मसीह को 28 नवंबर को गिरफ्तार किया गया था।

Edited By: Pankaj Dwivedi

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट