जेएनएन, काहनूवान (गुरदासपुर)। किशनपुर स्थित ब्यास दरिया में बुधवार सायं चार बजे के नहाने गए गांव बलवंडा व राजूबेला के पांच नौजवान पानी के तेज बहाव में बह गए। इनमें से 2 नौजवानों को रेस्क्यू टीम ने सही सलामत बाहर निकाल लिया। कुछ देर बाद ही तीसरे नौजवान का शव बरामद किया गया। देर रात तक लापता दो युवक नहीं मिले थे।

पिछले कुछ दिनों से पड़ रही भीषण गर्मी से राहत के लिए काहनूवान के अलग-अलग गांवों के पांच नौजवान काहनूवान कस्बे के गांव किशनपुर से निकलते दरिया ब्यास में नहाने के लिए गए थे। नहाते हुए पांचों पानी के तेज बहाव की तरफ चले गए और बह गए। इसकी जानकारी मिलते ही थाना प्रभारी भैणी मीयां खां कुलविंदर सिंह घटनास्थल पर पहुंचे और गोताखोरों की मदद से पानी में बहे युवकों की तलाश शुरू कर दी।

इसके बाद रेस्क्यू टीम ने सुखजिंदर सिंह और जोबनप्रीत सिंह निवासी गांव बलवंडा को कुछ ही देर में निकाल लिया। थोड़ी देर बाद लवप्रीत सिंह निवासी बलवंडा का शव बरामद कर लिया गया। नहाने गए युवकों में लवप्रीत सिंह और सिमरनजीत सिंह मौसेरे भाई हैं। इनमें से सिमरनजीत सिंह तो इकलौता बेटा है। सभी युवाओं की उम्र 22 से 23 साल के बीच है। अभी सिमरन व गुरङ्क्षवदर सिंह निवासी गांव राजूबेला का अभी कोई सुराग नहीं लग पाया है। पुलिस द्वारा बचाव टीम के सहयोग से उनकी तलाश की जा रही है।

दहशत में हैं बचाए गए नौजवान

रेस्क्यू टीम द्वारा बचाए गए सुखजिंदर सिंह और जोबनप्रीत सिंह ने अभी दहशत में हैं। उन्होंने बताया कि बुधवार की दोपहर वह गांव किशनपुर के पास नहाने के लिए गए थे। पानी में तेज बहाव की वजह से उसके अन्य तीनों दोस्त आगे की ओर जाने लगे। जब उन्होंने उन्हें बचाने का प्रयास किया तो पानी का बहाव तेज होने की वजह से वह भी दरिया में बह गए।

यह भी पढ़ेंः पाकिस्तान सीमा से सटे बमियाल सेक्टर से पकड़ा गया संदिग्ध, सुरक्षा एजेंसियां चौकस

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!