जेएनएन, बटाला (गुरदासपुर)। प्रतिबंधित फिल्म 'शूटर' यू-ट्यूब पर लीक होने के बाद आइजी बॉर्डर रेंज सुरेंद्र पाल सिंंह परमार ने कड़ा संज्ञान लिया है। उन्होंने सोमवार को इसकी जांच साइबर ब्रांच के एआइजी इंद्रबीर सिंह को सौंप दी। फिल्म शूटर पर पंजाब सरकार ने फरवरी में प्रतिबंध लगा दिया था।

यह फिल्म गैंगस्टर सुक्खा काहलवां के जीवन पर आधारित थी। इस फिल्म में गैंगस्टर सुक्खा को एक हीरो के रूप में दिखाया गया है। 2015 में सुक्खा काहलवां का कत्ल गैंगस्टर विक्की गौंडर ने कोर्ट में पेशी के दौरान कर दिया था। आइजी परमार ने कहा कि फिल्म का यू-ट्यूब लिंक उनके पास पहुंच चुका है। बता दें कि इस फिल्म के प्रोड्यूसर केवी सिंह ढिल्लों के खिलाफ डीजीपी दिनकर गुप्ता के आदेश पर मोहाली में मामला दर्ज किया गया था।

सोशल मीडिया पर फैलाई जा रही अफवाह, कर्फ्यू के बाद फिल्म चलेगी

सोशल मीडिया पर इन दिनों अफवाहें फैलाई जा रही हैं कि कर्फ्यू हटने के बाद फिल्म शूटर पर लगा प्रतिबंध हटा दिया जाएगा और इसे सिनेमाघरों में दिखाया जाएगा। हालांकि पुलिस इस बात को नकार रही है। उनका कहना कि उन्हें ऐसा कोई आदेश नहीं मिला है। जानबूझकर अफवाहें फैलाई जा रही हैं। 

बता दें, फिल्म 21 फरवरी को रिलीज होने थी। इससे पहले ही फिल्म के डायरेक्टर व प्रमोटर केवी सिंह ढिल्लों और अन्य के खिलाफ मोहाली में एफआइआर भी दर्ज कर ली गई। सरकार ने कहा कि यह फिल्म घृणित अपराध, हिंसा, फिरौती, खतरों आदि को बढ़ावा देती है। मुख्यमंत्री ने स्पष्ट कहा है कि उनकी सरकार ऐसी किसी फिल्म, गाने आदि को चलाने की आज्ञा नहीं देगी जो अपराध, हिंसा आदि को बढ़ावा देती हो। बाद में डीजीपी के आदेश पर मोहाली में ढिल्लों व अन्य के खिलाफ माहौल खराब करने, नफरत फैलाने आदि आइपीसी की धाराओं के तहत मामला दर्ज कर लिया गया।

हरियाणा की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

पंजाब की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें 

 

Posted By: Kamlesh Bhatt

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!