जागरण संवाददाता, बटाला :

कांग्रेस पार्टी के नेताओं ने पेट्रोलियम पदार्थो के दाम बढ़ोतरी के खिलाफ हड़ताल की। सोमवार को कांग्रेसियों ने दुकानदारों को धमकियां देकर उनकी दुकानें बंद करवाई। वहीं, कुछ दुकानदार बोले कि सीए कैप्टन ने कोई आदेश जारी नहीं किए कि बाजार बंद रहेंगे। कई जगहों पर दुकानदारों की

कांग्रेसियों के साथ कहासुनी भी हुई, लेकिन पुलिस के बीचबचाव के कारण

मामला शांत हो गया।

बैंकों का कामकाज सामान्य दिनों की तरह रहा

हर रोज बटाला में करोड़ों का व्यापार होता है, लेकिन बंद के कारण व्यापार बिल्कुल बंद रहा, जबकि बंद का सरकारी व प्राईवेट बैंकों में कोई खासा असर नहीं दिखा। रुटीन की तरह सुबह बैंक खुली और पब्लिक डी¨लग आम दिनों की तरह हुई। लगातार दो छुट्टीयां होने के वजह से बैंकों में उपभोक्ताओं की लंबी-लंबी लाईनें देखने को मिली। सोमवार को शहर के कांग्रेसी एकजुट होकर पेट्रोल की बढ़ी कीमतों के विरोध में बाजार बंद करने के लिए निकले। उनके साथ शहर के सभी थाना प्रभारी व डीएसपी सहित पुलिस पार्टी मौजूद थे।

केवल दवाइयों की दुकानें छोड़कर शहर की तकरीबन दुकाने बंद रही। जिन दुकानदारों ने दुकानें बंद नहीं कि उनकी दुकानें कांग्रेसियों ने धक्केशाही के साथ बंद करवाई। रास्ते में कुछ दुकानदारों ने अपनी दुकानें बंद करने से मना किया तो कांग्रेसी उनके उलझ पड़े। धमकियां देने लगे मामला गर्माया तो कांग्रेसियों ने उनके साथ गाली-गलौच शुरू कर दिया।

व्यापारी में रोष

पंजाब इंडस्ट्री के वाईस प्रधान ने बताया कि बंद के दौरान व्यापार में करोड़ो का नुकसान हुआ। कांग्रेसियों पर आरोप लगाते कहा कि सरेआम उन्होंने दुकानदारों से धक्केशाही कर बाजार बंद करवाए। कांग्रसियों

के कदम से व्यापारी वर्ग नाखुश है। प्रदर्शनकारियों ने आरोप लगाया कि जितने पेट्रोल पंप खुले हैं, वे सभी कांग्रेसी लीडरशिप के है।

प्राइवेट बस रोककर की तोड़फोड़

गांधी चौक से निकल रही प्राइवेट बस को रोककर प्रदर्शनकारियों ने ड्राइवर के साथ धक्केशाही की। कुछ ने तो बस की तोड़फोड़ शुरू कर दी, लेकिन इतने डीएसपी ने मौके पर पहुंचकर प्रदर्शनकारियों को फटकार लगाते कहा कि कानून को अपने हाथ में न लें वरना कानूनी कार्रवाई के लिए पुलिस को मजबूर होना पड़ेगा। फिर जाकर प्रदशर्नकारियों का गुस्सा शांत हुआ और बस को वहां से जाने दिया गया

लोगों की राय धरना-प्रदर्शन केवल टाईम वेस्ट

परेशानी झेल रहे लोगों में दलजीत ¨सह, रा¨जद्र कुमार ने बताया

कि धरना-प्रर्दशन करना केवल आम जनता का टाईम वेस्ट करना है। वैसे भी पेट्रोल पदार्थ के दाम इंटरनेशनल मार्केट के हिसाब से बढ़ते है। ऐसे में

केंद्र सरकार को दोष देना गलत बाता है। बटाला। कांग्रेसियों का प्रदर्शन तकरीबन फ्लाप साबित हुआ। केंद्र सरकार

का पुतला जलाने के वक्त स्थानीय गांधी चौक में चंद कांग्रेसी इकट्ठा हुए।

भाषण देने के लिए चार नेता चौक पर खड़े हो गए, लेकिन उन्हें सुनने वाले केवल कम संख्या में लोग नजर आए। हर कोई दबी जुबां से यही कह रहा था कि जितना कांग्रेसी बंद को लेकर प्रचार कर रहे थे, उन्हें उतना रिसपोंस नही मिला। कुल मिलाकर कांग्रेसियों का बटाला में प्रदर्शन फ्लाफ रहा।

Posted By: Jagran