गुरदासपुर, जेएनएन। बॉलीवुड अभिनेता और भाजपा प्रत्याशी सनी देओल के नामांकन में उनके छोटे बॉबी देओल तो मौजूद थे लेकिन उनके पिता सदाबहार अभिनेता धर्मेंद्र नहीं पहुंचे। पहले भाजपा नेताआें ने कहा था कि नामांकन में धर्मेंद्र भी आएंगे। धर्मेंद्र के यहां नहीं आने पर चर्चाएं शुरू हो गई और उनके फैन काफी निराश हुए। अब उनके यहां नहीं आने की वजह का खुलासा हुआ है। दरअसल वह अस्‍वस्‍थ हैं, लेकिन उन्‍होंने गुरदासपुर की जनता के नाम संदेश देकर बेटे को जिताने की अपील की है। वैसे उनके ट्वीट में राजनीति के प्रति तल्‍खी भी दिखी और सियासत की हालत को उन्‍होंने घिनौनी तक करार दिया है। उन्‍होंने लिखा है कि इसमें ए हो जाता है जेड और जेड बन जाता है ए।

ट्विट कर बेटे सनी देओल को जिताने की अपील की, लेकिन कहा- अाज राजनीति घिनौनी हो गई 

दूसरी ओर, सनी देओल को देखने के लिए सड़कों पर लोगों का सैलाब उमड़ पड़ा। नामांकन के बाद सनी ने कहा, मैं यहां जीतने के लिए आया हूं। बता दें कि बॉलीवुड अभिनेता सनी देओल ने भाजपा प्रत्याशी के तौर पर सोमवार को नामांकन दाखिल किया।

बेटे सनी के नामांकन में बीमार होने के कारण नहीं आए धर्मेंद्र, ट्वीट कर लोगाें से बेटे को जिताने की अपील की

सिनेमा स्टार के साथ उनके छोटे भाई बॉबी देओल ताे साथ रहे, लेकिन धर्मेंद्र नहीं पहुंचे। बताया जा रहा है कि तबीयत खराब हाेने के कारण वह साथ नहीं आ पाए। दूसरी वजह यह भी है कि सनी का गुरदासपुर आने का कार्यक्रम बहुत छोटा था। नामांकन दाखिल करने के बाद सनी वोट डालने के लिए वापस मुंबई लौट गए।



अपने जमाने में बॉलीवुड के हीमैन कहे जाने वाले धर्मेंद्र को लेकर चर्चा थी कि वह बेटे के नामांकन पत्र दाखिल करने के मौके पर मौजूद रहेंगे। भाजपा के पूर्व प्रदेश प्रधान व गुरदासपुर लोकसभा सीट के चुनाव प्रभारी कमल शर्मा ने भी धर्मेंद्र के यहां पहुंचने की संभावना जताई थी। धर्मेंद्र यहां नहीं पहुंचे तो लोगों का भारी निराशा हुई। इसके बाद उनके अस्‍वस्‍थ होने की बात सामने आई।

धर्मेंद्र का ट्वीट।

इन सबके बीच धर्मेंद्र ने उन्होंने सोशल मीडिया के जरिये गुरदासपुर के लोगों से सनी देओल काे समर्थन देने की अपील की है। धर्मेंद्र ने दो ट्वीट कर लोगों से बेटे सनी के लिए सहयोग की अपील की। उन्‍होंने लिखा- 'राजनीति इतनी घिनौनी हो चुकी है दोस्तों। यहां ए, ज़ेड बन जाती है। ज़ेड, ए हो जाता है। हम इसकी एबीसी नहीं जानते। हां, भारत हमारी मां है। मां के लिए हम आपका सहयोग मांगते हैं। हमारा साथ दो। जीत ये आपकी होगी। मेरे पंजाब के भाई-बहनों की होगी। भारत मां के ख़ूबसूरत अंग गुरदासपुर की होगी।' 

 

धर्मेंद्र का ट्वीट।

दो घंटे में ही निपट गया सनी का दौरा  

लंबे इंतजार के बाद भाजपा को उम्मीदवार के रूप में मिले सनी देओल का गुरदासपुर का पहला दौरा दो घंटे में निपट गए। कार्यकर्ताओं के साथ ही स्थानीय जनता उनकी राह ताक रही थी लेकिन दौरा इतना संक्षिप्त हुआ कि लोग उनका जी भरकर दीदार भी नहीं कर सके। अभिनेता से नेता बने सनी देओल के हावभाव में शांत और शर्मीले रहे। चुनाव में नेता की तरह बात करने की बजाय अपने सीधे होने का जिक्र कर गए।

यह भी पढें: सनी देओल ने PM मोदी के ट्वीट का दिया जोशीला जवाब, कहा- हुण चक्क दांगे फट्टे

तीन मिनट का भाषण
सनी केवल दो घंटों तक ही पार्टी कार्यक्रम के साथ ही हलके में रहे। उनका गुरदासपुर में आगमन करीब साढ़े 11 बजे हुआ। इसके बाद पर्चा भरने में करीब आधा घंटे का समय लगा। इसके बाद वह सीधे पुड्डा ग्राउंड में आयोजित रैली में पहुंचे। यहां पर उन्होंने डेढ़ घंटा बिताया।

पहले तो दूसरे नेताओं ने मंच संभाले रखा। दूसरे नेताओं ने रैली को संबोधित किया। सनी देओल ने रैली काे एक बज कर 22 मिनट पर संबोधित करना शुरू किया। इससे लोगों में जोश दिखा, लेकिन तीन मिनट का संक्षिप्‍त भाषण दिया। वैसे सीधी सपाट बात कहकर उन्होंने कार्यकर्ताओं में जोश भरा। इस दौरान उन्‍होंने अपनी हिट फिल्‍म 'गदर' फिल्‍म के मशहूर डाॅयलाग ' भारत जिंदाबाद था, जिंदाबाद है और जिंदाबाद रहेेगा' और 'यह दो किलो को हाथ' भी सुनाए।

रैली में बॉबी देओल को भी नहीं मिला बोलने का मौका

सनी दयाल का गुरदासपुर से भाजपा उम्मीदवार के रूप में टिकट करीब एक सप्‍ताह पहले तय हुआ था। तभी से अमा लोेगों में उनके आगमन को लेकर जोश देखा जा रहा था, लेकिन फिर उनका कार्यक्रम सीधा सोमवार को नामांकन भरने के समय तय हुआ। चर्चाएं थीं कि वह रोड शो कर जनता के बीच अपनी जोरदार अपीयरेंस देंगे। लेकिन उनका कार्यक्रम नामांकन भरने एवं रैली तक ही समेट दिया गया। इसके बाद वह मुंबई लौट गए। रैली में उनके साथ भाई बॉबी देओल को भी बोलने का मौका नहीं मिला। लोग और फैंस दोनों भाइयों को सुनने आए थे, लेकिन बॉबी के नहीं बोलने से उनको निराशा हुई।

Posted By: Sunil Kumar Jha