महिदर सिंह अर्लीभन्न, डेरा बाबा नानक

नेशनल हाईवे अथॉरिटी ऑफ इंडिया की ओर से तैयार करवाए गए नेशनल हाईवे 354 गुरदासपुर डेरा बाबा नानक-रमदास का निर्माण धीमी रफ्तार से चल रही है। इससे डेरा बाबा नानक स्थित करतारपुर कॉरिडोर को जाने वाले श्रद्धालुओं को परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। वहीं इस निर्माणाधीन मार्ग की हालत अति दयनीय होने के कारण गुरदासपुर, बटाला वाया डेरा बाबा नानक का दोगुणा रास्ता तय करना पड़ रहा है। अफसोस है कि नेशनल हाईवे अथॉरिटी ऑफ इंडिया द्वारा इस नेशनल हाईइवे का निर्माण कर रही सीगल कंपनी के अधिकारी कुंभकर्णी नींद सोए हुए हैं।

जानकारी के मुताबिक नेशनल हाईवे अथारिटी ऑफ इंडिया द्वारा नेशनल हाईवे 354 गुरदासपुर डेरा बाबा नान रमदास 48.5 किलोमीटर 150 करोड़ रुपये की लागत से तैयार किया जा रहा है। नेशनल हाईवे का निर्माण सीगल कंपनी द्वारा किया जा रहा है। इसका निर्माण नवंबर तक मुकम्मल होना था, लेकिन इस मार्ग का निर्माण कर रही कंपनी द्वारा करतारपुर कॉरिडोर का निर्माण करने व इस मार्ग पर काम करने वाली लेबर को करतारपुर कॉरिडोर के निर्माण में लगाने के बाद इस मार्ग का निर्माण ढीली रफ्तार में चल रहा है।

गुरदासपुर, डेरा बाबा नानक नेशनल हाईवे के खस्ता हालात संबंधी जानकारी देते हुए राहगीर जोगिदर सिंह, सुखदेव सिंह, हरदेव सिंह, गुरबचन सिंह, तेजवीर सिंह, असर सिंह, भूपिदर सिंह, जसपाल सिंह ने बताया कि जालंधर, होशियारपुर, पठानकोट, जम्मू से करतारपुर डेरा बाबा नानक जाने वाले इस प्रमुखमार्ग की हालत खस्ता होने के कारण वाहन भी खराब हो रहे हैं। गुरदासपुर से डेरा बाबा नानक जो 40 किलोमीटर के करीब है, लेकिन इस सड़क की हालत खस्ता होने के कारण वह बटाला से गुरदासपुर व गुरदासपुर से डेरा बाबा नानक 70 किलोमीटर पड़ता है। इस कारण श्रद्धालु दोगुणा रास्ता तय करके डेरा बाबा नानक स्थित कारिडोर देखने के लिए पहुंच रहे हैं। इस रास्ते से गुजरते हैं कई स्कूलों के बच्चे

इसके अलावा इस मार्ग पर जिया लाला मित्तल कान्वेंट स्कूल, बाबा मंगल दास मैमोरियल सीनियर सेकेंडरी स्कूल जोड़ा छत्तरां, बाबा दीप सिंह माडर्न सीनियर सेकेंडरी स्कूल संगतपुर, आदर्श सीनियर सेकेंडरी स्कूल भिखारीवाल, सरकारी एलीमेंट्री स्कूल बख्शीवाल, सरकारी सीनियर सेकेंडरी स्कूल कलानौर, गुरु नानक स्कूल डेरा बाबा नानक के अलावा एक दर्जन के करीब स्कूल इस मार्ग पर पड़ते हैं। इन स्कूलों में पढ़ते हजारों विद्यार्थियों को इस खस्ता हालत सड़क से रोजाना गुजरना पड़ता हैं।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!