महिदर सिंह अर्लीभन्न, डेरा बाबा नानक

भारत-पाक सीमा पर बने दर्शनी स्थल पर कोरोना महामारी के कारण हटाई गई दूरबीन के कारण दर्शनी स्थल पर सन्नाटा छाया हुआ है। मंगलवार को जब सीमा पर बने दर्शनी स्थल का दौरा किया गया तो देखा कि इस अस्थायी दर्शनी स्थल पर केवल बीएसएफ के जवान ही चौकस थे।

गौरतलब है कि कोरोना महामारी की रोकथाम के लिए सरकार ने करतारपुर कॉरिडोर बंद करने के साथ-साथ दर्शनी स्थल पर दूरबीन हटा ली थी। जब अब अनलॉक हो चुका है। मगर दर्शनी स्थल पर दूरबीन न होने के चलते पाकिस्तान स्थित गुरुद्वारा श्री करतारपुर साहिब जी के दर्शन करने के लिए आने वाले श्रद्धालु बिना दर्शन किए ही वापस लौटने को मजबूर हैं। इस दौरान बिना दर्शन किए ही लौटे दिलबाग सिंह, महिदरपाल, रमन कुमार, पवन कुमार आदि ने बताया कि वे दर्शनी स्थल पर गुरुद्वारा साहिब जी के दर्शन करने के लिए पहुंचे थे, लेकिन सीमा पर बने दर्शनी स्थल पर जाने की मनाही के चलते बेरंग लौट रहे हैं। उन्होंने पंजाब सरकार से मांग की कि दर्शनी स्थल पर दूरबीन के जरिए दर्शन करने की अनुमति दी जाए। एडिशनल चीफ सचिव से की जाएगी बात : एसडीएम

डेरा बाबा नानक सब डिवीजन के एसडीएम सिमर सिंह ढिल्लों से बातचीत की गई तो उन्होंने कहा कि बुधवार को एडिशनल चीफ सचिव होम पंजाब के साथ वीडियो कान्फ्रेंस के माध्यम से बैठक हो रही है। पंजाब सरकार को दर्शनी स्थल पर दूरबीन से दर्शन करने संबंधी बताया जाएगा। सरकार के आदेश आने पर दूरबीन से दर्शन कराएंगे : डीआइजी

बीएसएफ की डीआईजी राजेश शर्मा से बातचीत की गई तो उन्होंने कहा कि कोरोना महामारी के चलते सरकार द्वारा दर्शनी स्थल पर दूरबीन से दर्शन करने पर रोक लगाई हुई है। सरकार के आदेश आने के बाद श्रद्धालुओं को दूरबीन के जरिए दर्शन करवाए जाएंगे।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!