जागरण संवाददाता, बटाला : चालान फाड़ने के मामले में एसएसपी को डीसी ने दुकानदार के खिलाफ जांच के आदेश जारी किए है। पिछले दिनों दुकानदार पर नगर-कौंसिल के काम में रुकावट डालने व चालान फाड़ने के आरोप लगे। फिलहाल मामला थाना सिटी के अधीन चौकी बस स्टैंड के पास पहुंच गया जोकि इसकी जांच गहनता से कर रही है। काकू दी हट्टी के संचालक को चौकी बुलाकर उससे पूछताछ की जा रही है।

कौंसिल इंस्पेक्टर अमरजीत ¨सह ने पुलिस को वीडियो क्लिप व सरकारी रिपोर्ट सौंप दी। नगर-कौंसिल के इंस्पेक्टर के पुलिस ने बयान दर्ज कर लिए है। गौरतलब है कि गांधी चौक पर कुछ दुकानदारों ने सड़क पर 10 फुट तक अतिक्रमण किया हुआ था। कौंसिल टीम ने इन्हें थोड़े दिन पहले चेतावनी देकर छोड़ दिया, लेकिन दुकानदार अतिक्रमण करने से हटे नही। योजना के तहत नगर-कौंसिल की रिकवरी टीम इंस्पेक्टर अमरजीत ¨सह के नेतृत्व में गांधी चौंक से पिछले दिनों अतिक्रमण करने वाले दुकानदारों का सामान उठाने लगी। इस बीच काकू दी हट्टी का संचालक बाहर रखी पाईपों को उठाने लगा। इतनी देर में टीम उसकी दुकान पर पहुंच गई, जिन्होंने उसके हाथ में चालान थमा दिया। इंस्पेक्टर ने आरोप लगाते कहा कि गुस्साया दुकानदार उनके पीछे आ गया। और आते ही बहसबाजी करने लगा। मामला बढ़ा तो उनकी चालान बुक छीन ली, फिर चालान फाड़ दिया। इतनें में सारे रोड पर लोगों की भीड़ लग गई। धमकी देने लगा कि कौंसिल टीम उसका कुछ नही बिगाड़ सकती। उसके बाद देश के प्रधानमंत्री के खिलाफ गलत शब्दावली का प्रयोग करने लगा। अधिकारी ने दफ्तर पहुंचकर सारी स्थिति के बारे इओ भू¨पद्र ¨सह को बताई, जिन्होंने दुकानदार के खिलाफ इंस्पेक्टर को रिपोर्ट तैयार करने के आदेश जारी किए। मामला डीसी विपुल उज्जवल के पास पहुंचा तो उन्होंने एसएसपी को जांच के आदेश जारी किए। फिलहाल पुलिस केस की जांच कर रही है।

राजनीति संरक्षण के कारण चल रहा था अतिक्रमण

बटाला। जानकारी मुताबिक गांधी चौक से लेकर अलीवाल रोड तक जितना दुकानदारों द्वारा अवैध अतिक्रमण कर रखा है। यह सब राजनीति संरक्षण के कारण चल रहा है। हर दुकानदार के ऊपर किसी न किसी सत्तापक्ष नेता का हाथ है इसलिए नगर-कौंसिल उनपर कार्रवाई नही कर रही थी। मालूम हुआ कि इस बार अधिकारियों को ऊपर से डंडा था इसलिए गांधी चौक से लेकर अलीवाल रोड पर नगर-कौंसिल टीम ने बड़ी कार्रवाई की।

इन जगहों पर भी है लंबे से अतिक्रमण

बटाला। शहर के हंसली पुल, बैंक कालोनी, सिटी रोड समीप सातकरतारिया गुरुद्वारा के पास भी लंबे समय से दुकानदारों द्वारा अतिक्रमण कर रखा है, जहां से उन्हें हटाने के लिए नगर-कौंसिल ने आज तक कोई कार्रवाई नही की। अक्सर जहां से हररोज निकलने वाले वाहनों को खासी दिक्कतों का सामना करना पड़ता है। इन जगहों पर कुछ लीडरों व सरकारी अधिकारियों की दुकानें होने के कारण उनपर कोई कार्रवाई नही करता, लेकिन गांधी चौंक पर कौंसिल की रिकवरी टीम द्वारा बड़ी कार्रवाई करने के बाद अब वहां के स्थानीय लोगों में नई उम्मीद जगी है।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!