गुरदासपुर, जेएनएन। हिंदी फिल्‍मों के सदाबहार अभिनेता व हीमैन धर्मेंद्र का यह खास अंदाज आपके दिल को छू लेगा। धर्मेंद्र ने गुरदासपुर से अपने बेटे सनी देयाेल के खिलाफ लोकसभा चुनाव लड़े रहे सुनील जाखड़ नाम बेहद भावुक पैगाम भेजा है। उन्‍हाेेंने शायराना अंदाज में सुनील जाखड़ के लिए ट्वीट किया है।  उन्होंने सियासत की वजह से रिश्तों के तार-तार होने के अपने दर्द को बयान किया है।

अपने ट्वीट में धर्मेंद्र ने लिखा है- 'सगों से रिश्ते... इक जमाने से... तोड़ गई.... पलों में... कमबख्त सियासत ये... बरकरार है.. बरकरार रहेगी... मोहब्बत मेरी... मोहब्बत से... जाखड़ के नाम।' धमेंद्र के ट्वीट करते ही सैकड़ों लोगों ने इसे री-ट्वीट किया और हजारों की गिनती में लोगों ने इसे लाइक किया। कुछ ने तो इस पर उनके ही अंदाज में जवाब भी दिए। दिलचस्प बात यह है कि धर्मेंद्र ने हर एक को जवाब भी दिया है।

धर्मेंद्र जब गुरदासपुर में बेटे सनी देयोल के लिए चुनाव प्रचार के जिए आए थे तो उस समय भी उनका सुनील जाखड़ के लिए प्‍यार उमड़ा था। उन्‍होंने उस समय सुनील जाखड़ को अपने बच्‍चे जैसा बताया था और कहा था कि कि मैं जाखड़ के खिलाफ चुनाव में कुछ नहीं बोलूंगा।

यह भी पढ़े: Dharmendra बोले- पहले पता होता बेटे Sunny Deol को जाखड़ के खिलाफ लड़ना है तो मना कर देतेे

Elections9 days ago

काबिले गौर है कि धर्मेंद्र की जाखड़ परिवार से पुरानी दोस्ती है। बता दें कि अपने जमाने के दिग्‍गज कांग्रेस नेता बलराम जाखड़ व अभिनेता धर्मेंद्र की बहुत मधुर संबंध रहे हैं। वे एक-दूसरे को भाई मानते थे और कई बार इस रिश्‍ते की गहराई दिखी थी। बलराम जाखड़ जब सीकर से चुनाव लड़े तो धर्मेंद्र उनके पक्ष में प्रचार करने के लिए गए। यहां तक कि जब भाजपा ने उन्हें अगले चुनाव में सीकर से खड़े होने के लिए कहा, तो उन्होंने यह कहते हुए मना कर दिया कि बलराम जाखड़ मेरे बड़े भाई हैं। मैं उनके सामने चुनाव नहीं लड़ सकता।

इसके बाद भाजपा ने धर्मेंद्र को सीकर की बजाय बीकानेर से चुनाव मैदान में उतारा था  और वह चुनाव जीत गए। गुरदासपुर में अपने प्रचार अभियान के दौरान भी धर्मेंद्र ने कहा था कि अगर उन्हें इस बात का पहले पता होता कि गुरदासपुर में उनके बड़े भाई का बेटा सुनील चुनाव लड़ रहा है, तो वह सनी को यहां से चुनाव लड़ने के लिए कभी न कहते। अपने टवीट में धमेंद्र ने कहा कि सियासत रिश्तों को तबाह कर देती है, लेकिन मेरा स्नेह सुनील जाखड़ के साथ हमेशा बना रहेगा।

कहा था- पहले पता होता कि जाखड़ से मुकाबला है तो सनी को चुनाव लड़ने से मना कर देता

इससे पहले चुनाव के दौरान बेटे Sunny Deol के लिए प्रचार करने गुरदासपुर पहुंचे Dharmendra ने कहा था  कि अगर पहले पता होता कि सनी के खिलाफ बलराम जाखड़ के बेटे सुनील जाखड़ चुनाव लड़ रहे हैं तो शायद हम मना कर देते।

बता दें कि धर्मेंद्र निजी संबंधों और दोस्‍ती को अहमियत देने वाले व्‍यक्ति माने जाते हैं। सनी के चुनाव प्रचार के दोरार धर्मेंद्र ने कहा था, 'मैंने बीकानेर में पांच साल में वह काम करके दिखाए जो पहले 50 साल में नहीं हुए थे। बीकानेर से चुनाव लड़ने से पहले भाजपा ने पटियाला से चुनाव लड़ने की पेशकश की थी, लेकिन मैंने देखा कि उस सीट पर कैप्टन अमरिंदर सिंह की पत्‍नी परनीत कौर चुनाव लड़ रही हैं। वह उनका बहुत सम्मान करते हैं और परनीत कौर उनकी बहन की तरह है। इसलिए मैंने वहां से चुनाव लड़ने के लिए मना कर दिया।'

धर्मेंद्र ने आगे कहा कि उन्हें लुधियाना से भी चुनाव लड़ने के लिए कहा गया, लेकिन वहां से चुनाव मैदान में उतरे ढिल्लों ने कहा कि वह भाई बनकर यहां से चुनाव न लड़े। इसके बाद उन्होंने पंजाब से चुनाव लड़ने का ख्याल ही छोड़ दिया।

परिवार को हज करवा धर्मेंद्र ने किया भगवान का शुक्रिया

धर्मेंद्र का मालेरकोटला के मोहम्मद्दीन और उनके परिवार के साथ पुरानी फोटो।
 

धर्मेंद्र ने अपनी एक पुरानी तस्वीर ट्वीट करते हुए लिखा कि फिल्मों में जाने से पहले वह मालेरकोटला में काम करते थे। मालेरकोटला के मोहम्मद्दीन, उनकी पत्‍नी फातिमा और बच्चों का उनके साथ बहुत प्यार और लगाव था। परिवार की इच्छा थी कि वह जिंदगी में एक बार हज की यात्रा जरूर करें। जब मैं फिल्म अभिनेता बना तो मैंने उनके इस सपने को पूरा किया था। मैं भगवान का शुक्रगुजार हूं कि उन्होंने मुझे यह मौका बख्शा।

हरियाणा की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

पंजाब की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें 

लोकसभा चुनाव और क्रिकेट से संबंधित अपडेट पाने के लिए डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Sunil Kumar Jha

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!