परमवीर ऋषि, बटाला

बटाला में कांग्रेस की टिकट को लेकर नेताओं में पेच फंसा हुआ है तो वहीं बटाला की टिकट को लेकर सट्टा बाजार में भी काफी हलचल देखी जा रही है। बटाला में मुख्य चार उम्मीदवार थे जो पार्टी की टिकट के लिए दावेदारी कर रहे थे। सट्टा बाजार में मुख्यतौर पर पूर्व मंत्री अश्वनी सेखड़ी और तृप्त बाजवा पर भाव लगाया जा रहा था, लेकिन तृप्त बाजवा को फतेहगढ़ चूडि़यां से टिकट मिलने के बाद अब अश्वनी सेखड़ी और सुरिदर कुमार उर्फ पप्पू जैंतीपुरिया पर भी कुछ लोग सट्टा लगा रहे हैं।

कांग्रेस की पहली सूची जारी होने के बाद कैबिनेट मंत्री तृप्त बाजवा को फतेहगढ़ चूडि़यां से टिकट फाइनल होने के बाद सट्टा बाजार धड़ाम से नीचे गिर गया है। इससे पहले बटाला से टिकट की दावेदारी में तृप्त बाजवा पर सट्टा बाजार में तीन का भाव मिल रहा था जबकि ज्यादातर स्टारियों के पास तृप्त बाजवा पर ही सट्टा लगा था। जबकि अब तृप्त बाजवा इस रेस में बाहर हो चुके हैं और सट्टा बाजार में अब दो लोगों पर सट्टा लगना शुरू हो गया है। जिस में मुख्यतौर पर पूर्व मंत्री अश्वनी सेखड़ी और राजिदर कुमार उर्फ पप्पू जैंतीपुरिया शामिल है। सब से ज्यादा सट्टा अश्वनी सेखड़ी को बटाला से टिकट मिलने को लेकर लगा है।

राज्य के कई बड़े सटोरियों से जुड़े हैं सट्टा बजार के तार

बटाला में सक्रिय सट्टा बाजार में पिछले कई हफ्तों से बटाला विधान सभा चुनाव में कांग्रेस की तरफ से दी जाने वाली टिकट पर करीब एक करोड़ का सट्टा लग चुका है। इस सट्टा बाजार के तार पंजाब के कई बड़े शहर में स्टोरियों के साथ जुड़े हुए हैं। कहा जा रहा है कि इस खेल को कई राजनीतिक पार्टियों के लोग भी शामिल हैं जिनकी छत्रछाया में यह धंधा चल रहा है।

Edited By: Jagran