महिदर सिंह अर्लीभन्न, डेरा बाबा नानक

विभाजन के बाद भारत-पाक युद्ध, रावी दरिया के बाढ़ की मार, आतंकवाद दौर के कारण आर्थिक तौर पर पिछड़े डेरा बाबा नानक का कायाकल्प करतारपुर कॉरिडोर खुलने से हो गया है। डेरा बाबा नानक के अलावा इस पवित्र नगरी को जोड़ने वाली प्रमुख सड़कों पर कारोबार बढ़ने से दुकानदारों के चेहरे खुशी से खिल उठे हैं। सात करोड़ 90 लाख रुपये से कस्बे में विकास कार्य करवाए जा रहे हैं। इसके साथ ही आसपास की सड़कों का निर्माण करोड़ों रुपये लगाकर किया गया है।

भारत-पाक की राष्ट्रीय सीमा पर बसे इस ऐतिहासिक कस्बे को गुरु नानक देव जी के बेटे लखमी चंद के बेटे धर्म चंद ने 66 एकड़ जमीन में बसाया था। इस समय डेरा बाबा नानक आबादी 6400 है। करीब 4400 वोटर हैं। इस पवित्र भूमि पर गुरुद्वारा श्री दरबार साहिब में बाबा अजित्ते रंधावा का कुंआ है। यहां पर अक्सर ही श्री गुरु नानक देव जी आते रहते थे। इसके अलावा इस कस्बे में श्री गुरु नानक देव जी के पवित्र अंग वस्त्र से संबंधित चोला साहिब गुरुद्वारा साहिब व श्री चंद जी की चरण स्पर्श प्राप्त गुरुद्वारा टाहली साहिब भी मौजूद हैं। पिछले समय के दौरान भारत व पाकिस्तान सरकारों की सहमति के बाद पाकिस्तान स्थित गुरुद्वारा श्री करतारपुर साहिब जी के दर्शनों के लिए खोले गए रास्ते के बाद इस डेरा बाबा नानक का कायाकल्प हो रहा है। इस पवित्र नगरी में नेशनल हाईवे अथॉरिटी ऑफ इंडिया ने 100 करोड़ रुपये की लागत से 3.5 किलोमीटर सुंदर करतारपुर कॉरिडोर का निर्माण किया है। वहीं श्रद्धालुओं के लिए लैंडपोर्ट अथॉरिटी ऑफ इंडिया ने 500 करोड़ रुपये की लागत से पैसेंजर टर्मिनल का भी निर्माण किया है। इसके अतिरिक्त लोक निर्माण विभाग की ओर से बटाला से डेरा बाबा नानक को आने वाले मार्ग को सात से दस मीटर चौड़ा बनाने के लिए तीन करोड़ सात लाख, रमदास से डेरा बाबा नानक सड़क के लिए तीन करोड़ 60 लाख, फतेहगढ़ चूड़ियां से डेरा बाबा नानक सड़क के लिए एक करोड़ 49 लाख के अलावा डेरा बाबा नानक के मार्गो पर इंटरलॉक टाइलों के निर्माण पर करीब करोड़ रुपये खर्च किए गए हैं। इसी तरह डेरा बाबा नानक में बस स्टैंड, अनाज मंडी व अस्पताल को सभी अपग्रेड किया गया है। आठ करोड़ से होगा 11 वार्डो का विकास

नगर कौंसिल डेरा बाबा नानक के प्रधान एडवोकेट परमीत सिंह बेदी ने बताया कि लंबे समय से पिछड़े ऐतिहासिक कस्बा डेरा बाबा नानक का कायाकल्प हो रहा है। केंद्र व पंजाब सरकार ने इस नगरी पर करोड़ों रुपये खर्च कर इस ऐतिहासिक कस्बे को सुंदर बनाया है। पंजाब सरकार ने साढ़े चार एकड़ जमीन में श्री गुरु नानक देव जी पार्क दो करोड़ रुपये से तैयार करवाई जा रही है। इसके अलावा कैबिनेट मंत्री सुखजिदर सिंह रंधावा के सहयोग से नगर कौंसिल डेरा बाबा नानक के 11 वार्डो के सभी गलियों-नालियों का नवीनीकरण के लिए लॉकेट टाइलें लगाई जा रही हैं। इसके अलावा दरबार साहिब को जाने वाले प्रमुख बाजारों को हेरिटेज दिख देने के लिए मत्तेवाल कंट्रक्शन सोसायटी को टेंडर दिया गया है। इसका निर्माण 20 नवंबर से शुरू होगा। उन्होंने कहा कि डेरा बाबा नानक में कैबिनेट मंत्री की ओर से दस करोड़ रुपये की हवेली का निर्माण किया जाएगा। 20 ई-रिक्शे से घर-घर उठाया जा रहा कूड़ा

एडवोकेट बेदी ने बताया कि कस्बा डेरा बाबा नानक में सफाई के मद्देनजर 20 ई-रिक्शे घर-घर से कूड़ा कर्कट उठा रहे हैं। चार ट्रॉलियां व एक जेसीबी मशीन के अलावा कस्बे में श्रद्धालुओं के बैठने के लिए बैंच लगाए गए हैं। बाबा मनजीत सिंह जीरकपुर वालों की ओर से डेरा बाबा नानक को प्रवेश करने वाले मार्गो के अलावा विभिन्न स्थानों पर फूलों की खूशबू बिखेरने वाले 15 हजार 500 पौधे लगाए गए है। इसके अलावा करतारपुर कॉरिडोर की सुंदरता को बढ़ाने के लिए 5550 गेंदे के फूलों के गमले लगाए गए हैं।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!