जेेेेएनएन, डेरा बाबा नानक(गुरदासपुर)। कॉरिडोर से होकर पाकिस्तान स्थित गुरुद्वारा श्री करतारपुर साहिब के दर्शन करने वाले श्रद्धालु साल में सिर्फ एक बार ही वहां जा सकेंगे। दूसरी बार जाने के लिए उन्हें एक साल बाद ही अनुमति मिलेगी। पंजाब के कैबिनेट मंत्री सुखजिंदर सिंह रंधावा ने डेरा बाबा नानक में मीडिया को यह जानकारी दी।

उन्होंने कहा कि श्री करतारपुर साहिब जाने के लिए श्रद्धालुओं को 30 दिन पहले आवेदन करना होगा। जिस श्रद्धालु को परमिट मिलेगा, उसे चार दिन पहले फोन, मैसेज और ईमेल से सूचित किया जाएगा। अगर किसी को परमिट नहीं मिलता है तो उसे 30 दिन बाद दोबारा आवेदन करना होगा। एक दिन में पांच हजार श्रद्धालु करतारपुर साहिब के दर्शन कर सकेंगे। गुरु पर्व व अन्य बड़े समागमों में 10 हजार श्रद्धालु दर्शन करने जा पाएंगे। आवेदन करने के लिए वेबसाइट एक या दो दिन में शुरू हो जाएगी।

बादलों के कहने पर संगत का 10 करोड़ खर्च कर रही एसजीपीसी

रंधावा ने कहा कॉरिडोर का उद्घाटन करने के लिए डेरा बाबा नानक आ रहे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के लिए पंजाब सरकार व एसजीपीसी की ओर से संयुक्त स्टेज लगाई जाएगी। पांच नवंबर तक प्रबंध मुकम्मल कर लिए जाएंगे। उन्होंने कहा कि एसजीपीसी बादलों के कहने पर काम कर रही है। संगत की गोलक से 10 करोड़ रुपये अलग से कार्यक्रमों पर खर्च किए जा रहे हैं।

15 भक्तों व बाबा नानक के परिवार की लगेंगी पेटिंग्स

डेरा बाबा नानक के सुंदरीकरण में करीब डेढ़ साल और लगेगा। श्री गुरु ग्रंथ साहिब में जिन 15 भक्तों की बाणी दर्ज है, उनकी पेंटिग्स लगाई जाएंगी। माता सुलखनी, बेटे लखमी दास, बाबा श्री चंद, भाई बाला जी, भाई मरदाना जी और बाबा बुड्ढा साहिब की पेंटिंग्स भी लगाई जाएंगी। भाई मरदाना की रबाब भी दिखाई जाएगी।

हरियाणा की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

पंजाब की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें 

Posted By: Kamlesh Bhatt

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!