बाल कृष्ण कालिया, गुरदासपुर

दो दिन पहले जिन अपराधियों को पकड़ कर पुलिस ने वाहवाही लूट रही थी वे पुलिस कर्मचारियों की लापरवाही की वजह से पुराने एसएसपी आफिस में बनी सब जेल से भाग गए। इस मामले में सब जेल के इंचार्ज सब इंस्पेक्टर सुखजिंदर सिंह, एएसआइ जसपाल सिंह, एएसआइ बलविंदर सिंह को सस्पेंड कर दिया गया है। थाना सिटी पुलिस ने इस मामले को लेकर रिपोर्ट भी दर्ज कर ली है।

पुलिस लाइन के लाइन आफिसर गुरविंदर सिंह ने पुलिस को दिए बयान में बताया कि उन्होंने कलानौर के थाना सदर पुलिस की ओर से पकड़े गए चार अपराधियों को पुराने एसएसपी आफिस के सब जेल में रखा था। वहां गार्ड के तौर पर पुलिस कर्मचारी तैनात किए थे। इनमें से सब इंस्पेक्टर सुखजिंदर सिंह, एएसआइ जसपाल सिंह, एएसआइ बलविंदर सिंह शामिल थे। पांच अप्रैल को सुबह पांच बजे जैसे ही बाथरूम के लिए आरोपित रवि मट्टू पुत्र मस्कट निवासी कलानौर, सुनील मट्टू पुत्र मस्कट, मनदीप सिंह पुत्र दर्शन सिंह निवासी हकीमपुर कलानौर को सब जेल से बाहर निकाला गया तो वे पुलिस कर्मचारियों को धक्का देकर भाग निकले। हालाकि इस दौरान थाना सिटी पुलिस को भी सूचित कर दिया गया। काफी देर तक पुलिस कर्मचारियों ने आरोपियों का पीछा भी किया, लेकिन सफलता हासिल नहीं लगी। गौर हो कि दो दिन पहले इन आरोपितों को चोरी और लूटपाट के मामले में गिरफ्तार किया गया था। जेल भेजने से पहले होता है कोरोना टेस्ट

नियमों के मुताबिक किसी भी अपराधी को अब पकड़ने के साथ ही उसका कोरोना वायरस टेस्ट करवाया जाता है। रिपोर्ट आने तक उसे गुरदासपुर के पुराने एसएसपी आफिस में बनी सब जेल के अंदर रखा जाता है। जैसे ही रिपोर्ट आती है उसी हिसाब से आरोपितों को आगे की कार्रवाई के लिए भेज दिया जाता है। उदाहरण के तौर पर अगर रिपोर्ट पाजिटिव आती है तो उन्हें 14 दिन के लिए वहीं पर रहना होता है। अगर रिपोर्ट नेगेटिव आती है तो उन्हें केंद्रीय जेल गुरदासपुर में भेज दिया जाता है।