तरूण जैन, फिरोजपुर : वीर जी, इस बार तुस्सी आपणा कीमती वोट सानू ही देना, असीं हलके का खूब विकास करांवांगे। कुछ ऐसी पंक्तियां चुनाव मैदान में उतरे प्रत्याशियों व उनके रिश्तेदारों के मुख से वोटरों को सुनने को मिल रही हैं। प्रचार की कमान प्रत्याशियों की बेटे, बेटियो, पत्नी व भाईयों ने संभाल रखी है। हर कोई वोटर से जय श्री राम व सतश्री अकाल कहकर मिल रहा है। नेताओं के जो परिजन पांच साल जनता में नजर नहींते अब वोटर्स के रूबरू हो रहे हैं। उम्मीदवारों के परिजनों द्वारा किसी के घर चाय, भोजन किया जा रहा है तो किसी के घर के पास नुक्कड़ बैठकें की जा रही है।

भाजपा प्रत्याशी राणा सोढ़ी के पक्ष में उनकी पत्नी टीना सोढ़ी, बेटे रघुमीत सिंह, अनुमीत सिंह हीरा सोढ़ी सहित बेटी ने चुनाव प्रचार की कमान संभाल रखी है। राणा की बहन भी मैदान में अपनी सहेलियों व अन्य घरों में जाकर प्रचार कर रही है।

कांग्रेस प्रत्याशी परमिदर सिंह पिकी का प्रचार उनकी पत्नी इंद्रजीत कौर खोसा के अलावा बेटियां समर सांघा व एडवोकेट अनमोल कौर कर रही हैं। उनके द्वारा लोगों को पिकी द्वारा करवाए गए विकास कार्यों के हैंड बिल दिए जा रहे हैं और अपने दस वर्ष में किए गए कार्यों पर वोट की मांग की जा रही है। पिकी के साले हरजिदर सिंह बिट्टू सांघा भी राजनीति में सक्रिय है।

- अकाली प्रत्याशी रोहित मोंटू वोहरा के हित में उनकी पत्नी रूबी वोहरा व भाभी नीति वोहरा द्वारा प्रचार की कमान संभालते हुए शहर-छावनी सहित गांवों में जाकर प्रचार किया जा रहा है। उनके द्वारा लोगों को अकाली दल की नीतियों के बारे में बताया जा रहा है।

- आम आदमी पार्टी के प्रत्याशी रणबीर भुल्लर के लिए उनके भाई कुलदीप सिंह भी गांवों में जाकर चुनाव प्रचार कर रहे हैं। भुल्लर का प्रचार शहरी इलाकों के मुकाबले ग्रामीण इलाकों में अधिक है ।

Edited By: Jagran