संवाद सूत्र, फिरोजपुर : जिले में बैंक अधिकारियों व कर्मचारियों ने दो दिन की हड़ताल शुरू कर दी। शुक्रवार को पहले दिन भारतीय स्टेट बैंक के माल रोड के आगे कर्मचारियों ने रोष प्रदर्शन किया।

ऑल इंडिया बैंक कर्मचारी एसोसिएशन के जरनल कौंसिल के मेंबर कामरेड प्रेम कुमार शर्मा ने कहा कि सरकार हमारे वेतन समझौते को नवंबर, 2017 से लटकाया रही है। वेतन राज्य कर्मचारी एवं केंद्रीय सरकार के कर्मचारियों से बहुत कम है और काम का बोझ दिन-ब-दिन बढ़ रहा है। इससे कर्मचारियों में आक्रोश है। उन्होंने कहा कि सरकार का कहना है कि हमारे बड़े बैंक ग्लोबल (विदेशी) बैंकों से प्रतिस्पर्धा कर पाएंगे, जबकि हमारे सारे सरकारी बैंको की कुल पूंजी मिलाकर भी चार बिलियन डॉलर से ज्यादा नहीं है, जबकि एक अकेले विदेशी बैंक की पूंजी ही 40 बिलियन डॉलर से ज्यादा है। आज देश की कुल संपत्ति का 62 फीसद हिस्सा भारत के केवल कुछ बढ़े घरानों के पास है। इस मौके पर कांमरेड नरेश कश्यप, रीजनल सेकेटरी सुखपाल, कांमरेड रीजनल सेकेटरी बैंक आफ बढ़ोदा निरंजन सिंह, बलजीत संह, सीसीएम का. गुरलाल सिंह, जुगराज सिंह ने भी अपने विचार व्यक्त किये।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!