संवाद सूत्र, फिरोजपुर : रात्रि करीब 11.50 का समय। छावनी स्थित बाबा शेरशाह वलि जी की दरगाह पर बाबा जी के जैकारों से आसपास का वातावरण गूंज उठा। यह नजारा था नये साल के आगमन का। नये साल के आगमन के मौके पर कई प्रकार के आयोजन किए जाते हैं इसी कड़ी के तहत छावनी स्थित बाबा शेर शाह वलि की दरगाह पर मंगलवार रात्रि को नववर्ष के इस्तकबाल के लिए प्रोग्राम करवाया गया। श्रदालुओं ने इसे जशन-ए-2020 का नाम दिया। इस मौके पर गब्बर शाह कव्वाल ने टीम के साथ बाबा जी की शान में कव्वालियां पेश कीं, जिनका श्रदालुओं ने पूरा आनंद उठाया। इसके साथ ही बाबा जी की दरगाह पर लंगर लगाया गया।

जैसे ही 12 बजे उसी समय बाबा जी के जैकारों के साथ केक काटने की रस्म शुरू हुई। इसके लिए श्रदालुओं के साथ आए नन्हे बच्चों से केक कटवाया। देर रात तक गब्बर शाह कव्वाल ने नये साल के आगमन पर बाबा जी की शान में कव्वालियां पेश कर संगतों को झूमने पर मजबूर कर दिया।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!