जागरण संवाददाता, फिरोजपुर

कैनेडियन हाई कमीशन ने मिशन आउटरीच के तहत दास एंड ब्राउन व‌र्ल्ड स्कूल के विद्यार्थियों व उनके अभिभावकों के लिए स्पेशल वर्कशॉप करवाया। इसमें कनाडा में पढ़ने तथा विभिन्न तरह के वीजा प्रक्रिया के बारे में जानकारी दी। खासतौर पर कंस्लटेंट ऑफ कनाडा के प्रतिनिधियों में शैली कवात्तरा, अन्नदिता बुरागोहेन ने कैनेडियन एंबेसी द्वारा मिलने वाली सुविधाओं और एजेंटों के जाल से बचने की जानकारी मुहैया करवाई।

प्रिसिपल रानी पौदार ने बताया कि स्कूल में पहले से ही स्टडी अब्रॉड क्लीनिक की स्थापना कर रखी है, जिसमें विभिन्न देशों के विश्वविद्यालयों में सिलेक्शन बारे जानकारी मुहैया करवाई जाती है। इसके अलावा स्कूल में चाइना, स्पेन व पुर्तगाल के अध्यापकों द्वारा स्कूल में विद्यार्थियों को विदेशी भाषाओं का ज्ञान दिया जा रहा है। जल्द ही स्कूल द्वारा बहुत ज्यादा देशों के साथ स्काइप पर संबंध स्थापित कर विद्यार्थियों को वहां के शिक्षाक्रम बारे अवगत करवाया जाएगा।

प्रतिनिधियों ने कहा कि एंबेसी द्वारा ऑनलाइन सुविधा शुरू की गई है, जिसके माध्यम से विद्यार्थी व उनके अभिभावक ऑनलाइन वीजा फाइल अप्लाई कर सकते है और ऐसा करने से समय व पैसे दोनों की बचत होगी। विद्यार्थियों में अमरजीत, नवरीत, स्तुति, साक्षी, आर्यन वर्मा ने अपनी जिज्ञासाओं को कंस्लटेंट ऑफ कैनेडा के प्रतिनिधियों के सामने रखा और उनके द्वारा विद्यार्थियों के सवालों का जवाब दिया गया। अध्यापक नीशू, हरसंगीत, सैलिन, अभिषेक अरोड़ा ने बताया कि स्कूल प्रशासन द्वारा ऐसे सेमिनार आयोजित करवाने का मकसद विद्यार्थियों व उनके अभिभावकों को वह तमाम जानकारी प्रदान करना और समस्याओं से बचाना है जोकि उन्हें विदेश जाते वक्त पेश आती है। उक्त प्रतिनिधियों ने स्कूल में मिल रही आधुनिक सुविधाओं, विद्यार्थियों को विदेशी भाषाओं के मिल रहे ज्ञान को सराहनीय कदम बताया है। स्कूल प्रशासन ने प्रतिनिधियों को सम्मानित भी किया।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!