दर्शन सिंह, फिरोजपुर : जिले में ड्रैगन डोर दुकानों से लेकर घरों तक पहुंच गई है, इससे सेल टेक्स डिपार्टमेंट की कार्यप्रणाली की पोल भी खुल रही है। शहर व छावनी की विभिन्न दुकानों पर जख्म देने वाली डोर खुलेआम बेची जा रही है। इससे साबित होता है कि अधिकारी शहर में पहुंचने वाले माल की जांच नहीं करते और बिल को देखकर की काम चलाया जा रहा है।

रविवार की शाम भी शहर की सब्जी मंडी के दुकानदार ड्रैगन डोर की चपेट में आकर जख्मी हो गया। उसके गले में जख्म हो गया, जिसे टांके लगाने पड़े लगे। लड्डू ने बताया कि वह दुकान से सामान खरीदने के लिए बाजार स्कूटी पर गया था, जैसे ही वह बगदादी गेट के पास पहुंचा तो वह डोर की चपेट में आ गया और उसका गला कट गया। गहरा जख्म हो जाने के कारण उसे डॉक्टर के पास जाकर टांके लगवाने पड़े हैं। अभी उसकी गर्दन सीधी नहीं हो रही,लड्डू ने यह भी बताया की जिस डाक्टर से उसने इलाज करवाया वहां पर एक महिला जिसका पांव डोर से कट गया था वह भी पहुंची हुई थी।

अधिकारियों की इसी लापरवाही का फायदा डोर बेचने वाले दुकानदार उठा रहे हैं। अभी बसंत पंचमी में एक दिन ही बाकी बचा है और इतने समय में कितनी डोर और शहर में पहुंच जाएगी, उसके बारे में अंदाजा नहीं लगाया जा सकता, क्योंकि इतने बचे समय में डोर की खुलकर बिक्री होगी और प्रशासन क्या कार्रवाई करेगा इसके बारे में कुछ नहीं कहा जा सकता। पतंग उड़ाने वालों की बात करें तो उन्हें बिना किसी खौफ के डोर मिल रही है और वह देसी डोर खरीदना मुनासिब नही समझ रहे ।

--पुलिस की कार्यगुजारी भी शक के घेरे में ,मात्र चार पर्चे अभी तक किये दर्ज--

जिस तरह फिरोजपुर की दुकानों पर ड्रैगन डोर बिक रही है उससे पुलिस की कार्यगुजारी की पोल भी खुलकर सामने आ रही है,स्थिति का अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि पुलिस की तरफ से अभी तक मात्र चार लोगों के खिलाफ ही पर्चे दर्ज किये गए हैं ,ऐसे में पुलिस भी मुखबरी पर काम चलाने की कोशिश कर रही है ,खुद को बाजारों में सक्रिय नही कर रही ।जिस तरह शहर के आर्य समाज चौक की दुकान पर डोर की बिक्री हो रही है लगता है पुलिस की पहुंच वहां कम ही हो रही है ,क्योंकि सबसे ज्यादा पतंगों व डोर की खरीददारी इसी बाजार में होती है । ऐसे में डोर की मार से लोगों को कैसे बचाया जा सकेगा जब तक इसे बेचने वालों पर पुलिस की सख्ती नही होगी।

एसएसपी ने झाड़ा पल्ला कहा लोग दे सहयोग

एसएसपी विवेकशील सोनी ने कहा कि डोर की बिक्री को रोकने के लिए लोगों का सहयोग जरूरी है,पुलिस घरों में पहुंच नही कर सकती,धारा 188 के तरह सख्त कार्रवाई नही की जा सकती,डोर को लेकर डीसी के साथ मीटिग भी हो चुकी है । पुलिस ने कुछ लोगों पर पर्चे भी दर्ज किये हैं।

एईटीसी ने भी बचाया पल्ला,कहा बैरियर का सिस्टम हो चुका है खत्म--

इन्कम टैक्स व सेल टैक्स के एइटीसी आरके अहूजा ने कहा कि फिरोजपुर में बैरियर सिस्टम नही है ,जिससे वहां पर चैकिग की जा सके,अब सेल टैक्स का काम आनलाईन हो चुका है और पोर्टल के तहत की सारा काम होता है ,ऐसे में कौन का सा माल शहर में आ रहा है उसके बारे में पता नही चलता ।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!