संवाद सूत्र, फिरोजपुर: पंजाब सरकार सड़कों पर घूम रहे बेसहारा पशुओं का प्रबंधन करने में पूरी तरह से असफल रही है। बेसहारा पशुओं की संभाल के लिए सरकार ने काऊ सैस की शुरुआत की थी, ताकि इस पैसे से सड़कों पर घूम रहे बेसहारा पशुओं से लोगों को निजात दिलाई जा सके लेकिन ऐसा नहीं हो सका है। इसके विरोध में द सरबत फाऊंडेशन ने आज बेसहारा पशुओं को डीसी कार्यालय के समक्ष बांध कर रोष प्रदर्शन किया। फाउंडेशन के फिरोजपुर यूनिट के नेता जगमीत सिंह, गुरप्रीत सिंह, रविन्द्र सिंह सोहेल, सुनील कुमार, रंजीत सिंह और संस्था के अन्य वालंटियर ने बताया कि सरकार लोगों से काऊ सैस वसूल कर रही है लेकिन इस समस्या से लोगों को निजात नहीं मिल सकी है। उन्होंने कहा कि नगर निगम बताए कि बेसहारा पशुओं के संभाल के लिए सरकार से मिले पैसे का कहां प्रयोग किया गया। उन्होंने बताया कि राज्य में बेसहारा पशुओं के कारण हो रही दुर्घटनाओं में हर वर्ष लगभग 150 लोगों की मौत हो जाती है। उन्होंने कहा कि सरकार को चाहिए कि बेसहारा पशुओं को गोशाला में भेजकर लोगों को इस समस्या से निजात दिलाए, अन्यथा लोगों से वसूल किया गया काऊ सैस वापस किया जाए। प्रदर्शन के बाद फाउंडेशन के पदाधिकारियों ने डीसी से मुलाकात की। डीसी ने उन्हें विश्वास दिलाया कि एक माह में इस समस्या का हल कर दिया जाएगा।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!