दर्शन सिंह, फिरोजपुर : जिले में मनाई जाती बसंत पंचमी भारत में ही नहीं बल्कि विदेशों में भी खास पहचान रखती है। इस दिन पंतगबाजी के शौकीन विभिन्न प्रकार की पतगों को उड़ाकर पेंच लड़ाते हैं। इस बार सोमवार व मंगलवार को हुई बारिश ने पतंग बेचने वालों के माथे पर परेशानी की लकीरें खींच दी हैं। एक-दो दिन पहले पतंग व डोर बेचने वालों की दुकानों पर खरीददारों की भीड़ लगी हुई थी। अब मौसम के बिगड़े मिजाज को देखते हुए ही लोग पतंगों आदि की खरीदारी कर रहे हैं। ऐसे में पंतग विक्रेताओं परेशान हैं।

फिरोजपुर में त्योहार के लिए शौकीन एक-दो महीने पहले ही तैयारी शुरू कर देते हैं। इसमें शहर, छावनी के अलावा साथ लगते अन्य कस्बे व शहरों से डीजे बुक करवाया जाता है। बंसत पंचमी से एक दो दिन पहले ही डीजे की धुनों पर लोग अपने घरों की छतों पर पतंगबाजी करते नाच-गाना कर आनंद लेते हैं। डीजे की बुकिग करीब दो से चार हजार रुपये से शुरू होती है और जैसे-जैसे बसंत पंचमी नजदीक आती है उसी डीजे के किराए में बढ़ोतरी होती जाती है, जो कि करीब 10 हजार रुपये तक भी पहुंच सकती है।

पहले लोहड़ी अब बसंत पंचमी पर भी बारिश ने डाला खलल

अमृतसर व तरनतारन से पतंग बेचने आए कारोबारी जतिद्र सिंह व जससीर सिंह ने कहा कि उनके इलाके में भी इस बार की लोहड़ी के दिन बारिश से पतंगबाजी नहीं हो पाई। उनका माल वहां नहीं बिक सका, अब यहा पहुंचे हैं तो बारिश ने परेशानी बढ़ा रखी है। बसंत को लेकर अभी एक दिन बाकी है। बारिश से ग्राहकों का नामोनिशान नही है। उन्हें यही डर है बना हुआ है कि कहीं उनके कारोबार पर बारिश के बादल न बरस जाएं। शहर के रहने वाले पतंग विक्रेता कुलवंत ने बताया कि बेशक अभी तक पतंग व डोर खरीदने वालों का कम ही आना हुआ है, क्योंकि खराब हुए मिजाज ने लोगों के मिजाज में भी बदलाव ला दिया है। उनके मुताबिक उन्हें आशा है कि मौसम में बदलाव के बावजूद पतंग डोर की बिक्री होगी ,बारिश से उनका काम प्रभावित हो रहा है। उनका मानना है कि इसके बावजूद फिरोजपुर के लोग जो देशों विदेशों में भी पतंगबाजी के शौकीनों के तौर पर जाने जाते है उन्हें बिगड़ा मौसम भी पतंगबाजी से नही रोक पाएगा। भले ही मौसम कितना भी खराब लग रहा है ,लेकिन फिरोजपुर का पतंगबाजी का इतिहास गवाह है कि सुबह से ही लोग जिनमें बच्चे,बुजुर्ग व महिलाएं तक शामिल होती है अपने घरों की छतों पर पतंगबाजी का लुत्फ लेने लगते है ।

30 को मनाई जाएगी बसंत पंचमी

डीसी चंद्र गैंद ने कहा कि लोगों की मांग को गंभीरता से लेते हुए इस बार 29 जनवरी की बजाए 30 जनवरी को बसंत पंचमी का त्योहार मनाया जाएगा और इस दिन छ्ट्टी का एलान किया गया है। इससे पूर्व छुट्टी का एलान 29 जनवरी के लिए किया गया था।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!