जागरण संवाददाता, फिरोजपुर : किसान मजदूर संघर्ष कमेटी की ओर से जंडियाला स्टेशन रेल ट्रैक से न हटने के कारणा एक बार फिर रेल की रफ्तार रूक गई है। मंगलवार सुबह करीबन तीन बजे किसानों के विरोध के बाद रेलवे ने अमृतसर से जाने वाली एक्सप्रेस गाड़ियों को रद्द किया है। रविवार और सोमवार सुबह अमृतसर पहुंची सचखंड एक्स, पश्चिम एक्स, अमृतसर-बांद्रा टर्मिनल्स 25 नवंबर बुधवार को दूसरे रूट से वापस भेजा जाएगा। ये वापसी के लिए सिर्फ एक दिन ही चलेंगी। रेल प्रशासन ने सिर्फ गोल्डन टैंपल मेल, सरयू-यमुना एक्स, शहीद एक्सप्रेस को डायवर्ट रूट्स से चलाने का फैसला किया है। लेकिन यह रूट सिगल लाइन सेक्शन के साथ अधिकतम 50 किलोमीटर प्रति घंटा स्पीड लिमिट होने कारण सभी गाड़ियों का संचालन कर पाना संभव नहीं है ।

इसके अतिरिक्त गाड़ी संख्या 02054 अमृतसर-हरिद्वार जनशताब्दी, 05212 अमृतसर-सहरसा जनसेवा, 02030 अमृतसर-नई दिल्ली शताब्दी जो अपने निर्धारित समय से चलने के लिए घोषित हो चुकी थी, जंडियाला मेन लाइन खुलने तक स्थगित रहेगी। फिरोजपुर डिवीजन में अन्य गाड़ियां जिनकी घोषणा की गई है वे अपने निर्धारित समय और रूट्स के मुताबिक ही चलेंगी।

वर्तमान स्थिति का रेल अधिकारियों ने किया आंकलन करते हुए जंडियाला ट्रैक साफ न होने की सूरत में गाड़िया रद्द करने का फैसला लिया है। डीआरएम राजेश अग्रवाल ने कहा कि जंडियाला से रेल परिवहन रुका है किसान ट्रैक पर बैठे है ऐसे में कोई भी ट्रेन नहीं चलाई जा सकती है। सुबह रेलवे को जंडियाला में किसानों के प्रदर्शन के कारण भगतांवाला के लिए निकली मालगाड़ी डागरा स्टेशन पर रोकना पड़ी, जो बाद में डायवर्ट कर रवाना की गई। वहीं मुंबई से अमृतसर लौट रही गोल्डन टैंपल को वाया व्यास तरणतारन से अमृतसर पहुंचाया गया। किसान संघर्ष मोर्चा की ओर से जंडियाला में मार्ग अवरोध करने कारण रेल प्रशासन ने केवल दो जोड़ी मेल एक्सप्रेस गाड़ियां चलाने का निर्णय लिया है। जो परिवर्तित मार्ग से वाया व्यास, तरनतारन, भगतांवाला से चलेंगी।

धनबाद एक्सप्रेस में 48 यात्रियों ने किया सफर

मंगलवार दोपहर को धनबाद एक्सप्रेस फिरोजपुर पहुंची। जिसमें महज 48 यात्रियों ने सफर किया। वापसी पर फिरोजपुर से 52 यात्री रवाना हुए। वहीं मक्खू में चावल से भरी जा रही मालगाड़ी त्रिपुरा के लिए देर रात को रवाना हुई।

Edited By: Jagran