जागरण संवाददाता, फिरोजपुर : डिप्टी कमिश्नर चन्द्र गैंद ने भारत सरकार द्वारा करवाए जा रहे स्वच्छ सर्वेक्षण ग्रामीण 2019 को जिला प्रशासनिक कंप्लेक्स में लांच किया, जिसमें उन्होंने बताया कि यह स्वच्छता सर्वेक्षण 30 सितम्बर 2019 तक चलाया जाएगा।

उन्होंने कहा कि 30 सितंबर तक देश के सभी जिलों की स्वच्छता का मूल्यांकन किया जाएगा। आपके लिए अपने गांव, जिले और सूबे को सभी देश में से पहला नंबर बनाने का सुनहरी मौका है। अब तक का सबसे बड़ा स्वच्छता सर्वेक्षण करवाया जा रहा है। इसमें 34 सूबे और केंद्र शासित प्रदेश, 698 जिले, 17 हजार 475 गांव, 87 हजार 375 जनतक स्थान शामिल हैं। उन्होंने कहा कि मोबाइल एप के द्वारा 3 करोड़ 50 लाख लोगों का फीडबैक लिया जाएगा।

डीसी ने कहा कि इस स्वच्छता सर्वेक्षण में जनतक विभाग पंचायत घर, स्कूल, आंगनबाड़ी, प्रारंभिक सेहत केंद्र और धार्मिक स्थानों आदि का सर्वेक्षण किया जाएगा। अलग -अलग विभागों के अधिकारियों को निर्देश देते कहा कि एनड्रायड मोबाइल पर गुग्गल प्ले स्टोर के द्वारा एसएसजी 2019 एप डाउनलोड किया जाये और अपने अधीन काम करते कर्मचारियों, स्कूली अध्यापक और बच्चे, आंगनबाड़ी वर्करों आदि को इस सम्बन्धित जागरूक किया जाए। जिससे जिले की स्वच्छता सर्वेक्षण फीडबैक में विस्तार हो सके और जिले को पूरे देश में से पहला दर्जा प्राप्त हो सके। उन्होंने कहा कि जिले को स्वच्छता सर्वेक्षण में पहला दर्जा प्राप्त करवाने के लिए एनड्राइड फोन का प्रयोग न करने वालों की तरफ से खोज फ्री नंबर 18005720112 पर भी अपना फीडबैक दिया जा सकता है। डीसी ने जिलावासियों से अपील करते कहा कि वे जिले को स्वच्छता सर्वेक्षण में पहला दर्जा हासिल करवाने के लिए अधिक से अधिक अपना फीड बैक दें। इस मौके सहायक कमिश्नर रणजीत सिंह, एसपी मनविंदर सिंह, एक्सईएन वाटर सप्लाई मनप्रीत सिंह, सिविल सर्जन डा. हरी नारायण, आरटीए. तरलोचन सिंह, डिप्टी डीईओ सुखविंदर सिंह और एक्सईएन वाटर सप्लाई गुरप्रीत सिंह समेत अलग -अलग विभागों के अधिकारी उपस्थित थे।

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!