संवाद सूत्र, जीरा, (फिरोजपुर) : तीसरे हिस्से की पंचायती जमीन लेने के लिए गांव पंडोरी खतरियां में चल रहा संघर्ष उस समय और तेज हो गया, जब पुलिस ने गांव पंडोरी खतरिया के मजदूरों को हिरासत में ले लिया। इसके विरोध में पेंडू मजदूर यूनियन जीरा के नेता दिलबाग सिंह के नेतृत्व में भारतीय किसान यूनियन क्रांतिकारी के सदस्यों ने थाना सदर जीरा के समक्ष धरना लगाकर प्रदर्शन किया। इस मौके पर मजदूर वर्कर तथा किसान नेता भारी संख्या में उपस्थित हुए।

इस मौके पर किसान नेताओं ने कहा कि गांव की पंचायतों की तीसरे हिस्से की जमीन लेने के लिए मजदूर लगातार संघर्ष कर रहे हैं। इस मामले को लेकर 22 मई को बीडीपीओ जीरा के समक्ष धरना दिया गया था तथा तहसीलदार जीरा को ज्ञापन भी सौंपा था। इस दौरान तहसीलदार ने मामला हल करने का विश्वास दिलाया था, लेकिन इसके बावजूद गांव के चौधरी जमीन जोत रहे है। नेताओं ने कहा कि 23 मई को बिना किसी झगड़े के ही थाना सदर जिला की पुलिस ने दो मजदूरों को गिरफ्तार कर लिया, जबकि ठेके पर जमीन लेने वाला किसान भी कह रहा है कि कोई लड़ाई नहीं हुई।

किसान नेताओं ने गिरफ्तार किए मजदूरों को तुरंत बिना शर्त रिहा करने तथा फर्जी बोली तुरंत रद किए जाने की मांग की। इस मौके पर बलदेव सिंह जीरा, दिलबाग सिंह, भाग सिंह मोगा, अवतार सिंह, जगराज सिंह, सुखबीर सिंह, संदीप सिंह, ज्ञान सिंह, गुरदेव सिंह, रेशम सिंह, अमरीक सिंह मौजूद थे। शिकायत के आधार पर कार्रवाई की गई : एसएचओ

जीरा थाना सदर के एसएचओ जसविदर सिंह बराड़ ने बताया कि जिस किसान ने गांव की पंचायती जमीन ठेके पर ली है, उसकी शिकायत के आधार पर उक्त दोनों मजदूरों को हिरासत में लिया है। उन्होंने बताया कि जमानत के बाद इन मजदूर नेताओं को रिहा कर दिया जाएगा।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!